नई दिल्लीः चुनाव आयोग ने कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को शनिवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया. यह नोटिस सिद्धू की उस टिप्पणी को लेकर जारी किया गया है जिसमें उन्होंने बिहार में मुस्लिम मतदाताओं के वोट बांटे जाने के प्रयास के बारे में कथित तौर पर चेतावनी दी थी.

चुनाव आयोग ने कहा कि सिद्धू ने प्रथमदृष्ट्या लोकसभा चुनाव के लिए लागू आदर्श आचार संहिता, चुनाव कानून और राजनीतिक प्रचार के लिये धार्मिक संदर्भों के जिक्र पर उच्चतम न्यायालय की रोक का उल्लंघन किया है. कांग्रेस नेता को नोटिस का जवाब देने के लिये 24 घंटे का समय दिया गया है. आयोग ने कहा है कि उक्त समयसीमा के भीतर जवाब नहीं मिलने पर बिना सूचित किये सिद्धू के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

चुनाव आयोग ने सिद्धू के खिलाफ उक्त टिप्पणी को लेकर बिहार के कटिहार में एक प्राथमिकी दर्ज होने का भी जिक्र किया है. सिद्धू के खिलाफ जनप्रतिनिधि अधिनियम की धारा 123 समेत दंड सहिता की अन्य धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

सिद्धू ने 16 अप्रैल को कटिहार में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुस्लिम मतदाताओं से एकजुट होकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हराने के लिये मतदान करने की अपील कर विवाद खड़ा कर दिया था. सिद्धू कटिहार में कांग्रेस उम्मीदवार तारिक अनवर के समर्थन में चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे.