नई दिल्ली: केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने चुनाव अभियान में मनगढ़ंत मुद्दे उठा रहे हैं और यदि उन फर्जी मुद्दों को उनके भाषण से हटा दिया जाए तो कुछ भी नहीं बचेगा. जेटली ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि झूठ औंधे मुंह गिरता है और मतदाताओं की सोच बिगाड़ने वाले अतिआत्मविश्वासी विपक्षी नेताओं को लोकसभा चुनाव में मतदाता दंडित करेंगे. जेटली ने कहा, “राहुल गांधी ने न सिर्फ अपनी पार्टी, बल्कि पूरे विपक्ष को फर्जी और मनगढ़ंत मुद्दों पर निर्भर कर दिया है. वे फर्जी मुद्दे उठाते हैं, उसे बार-बार बोलते हैं और उसके बाद समझते हैं कि उनका झूठ सच हो जाएगा. समय आ गया है कि वे झूठ के कोकून से बाहर निकले अन्यथा समाप्त हो जाएंगे.”

बीजेपी की चुनाव आयोग से मांग, जहां मुस्लिम ज्यादा वहां की मस्जिदों की हो निगरानी

उन्होंने कहा, “राफेल, बालाकोट, जज लोया मौत, बैंक ऋण माफी, जेएनयू मुद्दा, ईवीएम, जीएसटी, नोटबंदी या नीरव मोदी व माल्या को लेकर या आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा या अर्थव्यवस्था को लेकर हमेशा फर्जी मुद्दे उठाए गए और विपक्ष का हर मुद्दा औंधे मुंह गिरा. यदि राहुल गांधी के भाषण से फर्जी मुद्दे हटा दिए जाएं, तो वहां कुछ बचेगा ही नहीं.” उन्होंने विपक्ष पर आरोप लगाया कि वह मतदाताओं की समझ को कमतर आंक रहा है. उन्होंने कहा कि मतदाता भी देश के विपक्षी दलों को उसी तरह समझेंगे और उन्हें उनकी जगह दिखा देंगे.

पीएम मोदी की मौजूदगी में BJP चुनाव समिति की बैठक जारी, प्रत्याशियों की हो सकती है घोषणा

भाजपा नेता ने कहा है, “चुनावी अभियान चलाने वालों को यह समझ लेना चाहिए कि फर्जी मुद्दों पर प्रचार चल नहीं पाएगा. भारतीय लोकतंत्र की वास्तविक ताकत मतदाताओं की समझ में निहित है. वे काम न करने वालों को दंडित करेंगे और वे काम करने वालों को दोबारा वोट देंगे. सर्वे करने वाले, राजनीति पंडित और टिप्पणीकार आमतौर पर गलत साबित होते हैं.”