नागपुर: लोकसभा चुनाव में हाई प्रोफाइल सीट नागपुर में बीजेपी के दिग्‍गज नेता और मोदी सरकार में शानदार परफॉर्मेंस का रिकॉर्ड रखने वाले नितिन गडकारी ने सोमवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया. नामांकन भरने के लिए गडकरी ने रोड शो निकाला, जिसमें समर्थकों की भारी भीड़ जुटी. संघ के पोस्‍टर ब्‍वॉय कहे जाने वाले गडकरी एक बार बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष भी रहे हैं. गडकरी ने मीडियाकर्मियों से कहा, इस बार मैं और बड़े अंतर से जीतूंगा. लोगों की पिछले पांच साल में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा किए कामों के बारे में अच्छी राय है. हमारी सरकार ने चुनाव घोषणा पत्र में किए वादों से अधिक काम किया.

बता दें कि नागपुर लोकसभा सीट पर मतदान 11 अप्रैल को होना है. साल 2014 के चुनावों में कांग्रेस के विलास मुत्तेमवार को 2.84 लाख मतों के अंतर से हराने वाले गडकरी ने कहा कि वह इस बार बड़े अंतर से जीतेंगे.

खास बात ये हैं कि इस बार उनके सामने कांग्रेस ने बीजेपी की लोकसभा सदस्‍यता से इस्‍तीफा देने वाले नाना पटोले हैं. हालांकि, पटोले पहले कांग्रेस से विधायक रह चुके हैं और पार्टी छोड़कर उन्‍होंने 10 साल पहले भंडारा गोंदिया सीट पर निर्दलीय रहते हुए एनसीपी के दिग्‍गज नेता को कड़ी टक्‍कर दी थी और बाद में वे गडकरी और बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे के परामर्श के बाद बीजेपी से दोबारा भंडारा गोंदिया सीट पर लड़े और प्रफुल्‍ल पटेल को पटकनी दी थी.

भाजपा के वरिष्ठ नेता गडकरी मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस, ऊर्जा मंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, परिवार के सदस्यों और बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ नामांकन पत्र दाखिल करने पहुंचे. गडकरी ने कहा, आपका समर्थन और प्यार हमारे लिए बड़ी ताकत है.

सीएम फड़णवीस ने कहा कि गडकरी नागपुर से ऐतिहासिक जीत दर्ज करेंगे. उन्होंने कहा, वह महाराष्ट्र में रिकॉर्ड बनाएंगे. मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा-शिवसेना गठबंधन राज्य में 48 लोकसभा सीटों में से 45 सीटें जीतेगा.

रामटेक (एससी) सीट से शिवसेना के मौजूदा सांसद कृपाल तुमाने ने भी रामटेक सीट के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया. नागपुर में गडकरी के खिलाफ खड़े कांग्रेस के नाना पटोले और रामटेक सीट पर तुमाने को चुनौती दे रहे पूर्व आईएएस अधिकारी किशोर गजभिये के सोमवार को ही शाम तक नामांकन पत्र दाखिल करने की संभावना है.