नई दिल्लीः केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा के भीतर पार्टी को 220 सीटों पर रोकने जैसी कोई ताकत काम नहीं कर रही है. लोकसभा चुनाव के बाद बदली हुई परिस्थितियों में खुद के प्रधानमंत्री पद के दावेदार होने की बातों को खारिज करते हुए गडकरी ने कहा कि पार्टी के भीतर कोई ‘220 क्लब’ नहीं है. ये केवल मीडिया की कयासबाजी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए विशेष इंटरव्यू में गडकरी ने ऐसी किसी भी चर्चा से इनकार किया. गौरतलब है कि मीडिया में ऐसी रिपोर्ट आती रही है कि लोकसभा चुनाव के बाद अगर भाजपा या एनडीए बहुमत से दूर रह जाता है तो एक सर्वमान्य चेहरा के रूप में पीएम पद के लिए नितिन गडकरी के नाम पर विचार हो सकता है. उन्होंने भरोसा जताया कि पीएम मोदी के नेतृत्व की बदौलत उनकी पार्टी पूर्ण बहुमत से सरकार में वापसी करेगी. गडकरी से जब यह पूछा गया कि अक्सर उनको सहयोगी दलों और संघ का चहेता नेता बताया जाता है तो उन्होंने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. जिसको जो लिखना है वो लिखते रहे. उन्होंने आगे कहा कि उनकी ऐसी कोई आकांक्षा नहीं है और न ही वह ऐसा कोई गुणा-भाग करते हैं. मैं पार्टी का कार्यकर्ता हूं और मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि पीएम मोदी के नेतृत्व में किए गए कामों का फल पूर्ण बहुमत के रूप में दिखेगा. ऐसी कोई स्थिति पैदा नहीं होने वाली है.