बक्सर: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बक्सर लोकसभा क्षेत्र के धनसोई में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्षी दल आरक्षण को लेकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं और किसी भी राजनीतिक दल में इतनी औकात नहीं कि वह संविधान के मुताबिक मिले आरक्षण को समाप्त कर दे. नीतीश कुमार ने शुक्रवार को राजग प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के पक्ष में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा, “हमारे रहते दलित, महादलित, अल्पसंख्यक, अति पिछड़ों, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के आरक्षण को समाप्त करने की किसी भी राजनीतिक दल की औकात नहीं है.”

हालांकि उन्होंने कहा कि आज वोट के लिए विपक्षी दल इसे लेकर तरह-तरह की बातें कर रहे हैं. उन्होंने राजद पर निशाना साधते हुए कहा, “राजद को भी बिहार में 15 साल सरकार चलाने का मौका मिला था, परंतु गरीबों के लिए कुछ नहीं किया गया. इन लोगों ने केवल लूटने का काम किया.” उन्होंने कहा, “अदालत ने लालू प्रसाद को चारा घोटाले में सजा दी है. अब ये लोग बोल रहे हैं कि उन्हें फंसा दिया गया है.”

गौतम गंभीर का बड़ा बयान, कहा- ‘आप’ के आरोप साबित हुए तो जनता के बीच लगा लूंगा फांसी

नीतीश ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार में देश का सम्मान बढ़ा है. बिहार में आज गांव-गांव तक बिजली पहुचं गई है. विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है, यही कारण है कि वे लोगों को बरगलाने में जुटे हुए हैं.” बक्सर में लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है.