लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण का मतदान खत्म होने के अगले दिन ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर को मंत्रिमंडल से हटा दिया है. सीएम योगी ने राजभर को हटाने की सिफारिश राज्यपाल को भेज दी है. सीएम योगी के खिलाफ विवादास्पद बयानों के कारण राजभर लंबे समय से चर्चा में रहे हैं. लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने खुलकर बगावत कर दी थी और योगी सरकार में मंत्री रहते हुए महागठबंधन का समर्थन किया था. सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के सभी दर्जा प्राप्त मंत्रियों को भी हटा दिया गया है.

ओमप्रकाश राजभर यूपी में पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री थे. वह सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष हैं. यूपी में उनकी पार्टी के 4 विधायक हैं. ओमप्रकाश राजभर ने इस बार लोकसभा चुनाव बीजेपी से अलग होकर लड़ा था. इस लोकसभा चुनाव में ओमप्रकाश राजभर की पार्टी कई सीटों पर अकेले चुनाव लड़ी थी और कई सीटों पर सपा बसपा व कांग्रेस का समर्थन किया था. ओमप्रकाश राजभर लगातार यूपी सरकार और केन्द्र सरकार पर हमला बोलते रहे हैं.