बेंगलूरू: कर्नाटक में लोकसभा की 28 सीटों के लिए दो चरणों में होने वाले मतदान में कुल 478 उम्मीदवार रह गये हैं. चुनाव अधिकारियों ने बताया कि 23 अप्रैल को 14 संसदीय क्षेत्र के लिए होने वाले चुनाव में 237 उम्मीदवार खम ठोंक रहे हैं. उन्होंने कहा कि सोमवार को 45 प्रत्याशियों ने अपने नामांकन वापस ले लिये. दूसरे चरण के लिए नामांकन पत्र वापस लेने की सोमवार को अंतिम तारीख है. दूसरे चरण के चुनाव में बेलगाम में सर्वाधिक 57 प्रत्याशी हैं जबकि रायचूर में सबसे कम पांच उम्मीदवार हैं. Also Read - Ideal House Rent Act: केंद्र सरकार जल्द लाएगी आदर्श किराया कानून, जानिए- क्या इससे रुकेगा नई झोपड़पट्टियां बांधने का काम

सरकार ने कहा- हफ्ते में दो दिन हो सैन्य काफिले की आवाजाही, सेना बोली- आदेश मानना संभव नहीं Also Read - केरल, महाराष्‍ट्र, दिल्‍ली राजस्‍थान समेत देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस का प्रचंड प्रकोप, पढ़ेंं डिटेल

राज्य में 18 अप्रैल को होने वाले प्रथम चरण के चुनाव में कुल 241 उम्मीदवार हैं. कर्नाटक में लोकसभा चुनाव के लिए खड़े हुए उम्मीदवारों में प्रमुख नाम पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा (तुमकुर), उनके पौत्र प्रांज्ज्वल रेवन्ना हासन से एवं निखिल कुमार स्वामी मांड्या से खड़े हुए हैं. इसके अलावा केन्द्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा बेंगलूरू उत्तर एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरप्पा मोइली चिक्कबल्लापुर से खड़े हुए हैं. Also Read - Coronavirus Crisis in India: देश में कोरोना की कहीं दूसरी तो कहीं तीसरी लहर का प्रकोप, यहां देखें किस राज्य में कितने मामले

पीएम मोदी पर बनी फिल्म: कांग्रेस नेता ने की रोक की मांग, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- कुछ नहीं कह सकते

दूसरे चरण में खड़े हुए प्रमुख उम्मीदवारों में उत्तर कन्नड़ा से कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे एवं केन्द्रीय मंत्री अनन्त कुमार हेगड़े, बीजापुर से रमेश जिगाजिनागी, भाजपा के प्रदेश प्रमुख बी एस येदियुरप्पा के पुत्र बी वाई राघवेन्द्र एवं पूर्व मुख्यमंत्री एस बंगारप्पा के पुत्र एवं जदएस प्रत्याशी मधु बंगरप्पा शिमोगा शामिल हैं. कर्नाटक में 14-14 सीटों के लिए क्रमश: 18 एवं 23 अप्रैल को मतदान होगा.