अगरतला: विपक्षी दलों ने पश्चिम त्रिपुरा लोकसभा सीट पर दोबारा चुनाव कराने की मांग की है. उन्होंने दावा किया कि 11 अप्रैल को पहले चरण में यहां हुए मतदान में सत्ताधारी भाजपा ने “बड़ी धांधली” की है. भाजपा ने आरोपों को “निराधार और राजनीति से प्रेरित” बताकर खारिज कर दिया. Also Read - राज्य सभा से निलंबित सदस्यों के समर्थन में विपक्षी दल, लोकसभा की कार्यवाही का किया बहिष्कार

पहले चरण में हुए मतदान में पश्चिम त्रिपुरा में करीब 77.6 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया था. कांग्रेस और माकपा ने रविवार को संसदीय सीट के 1,679 मतदान केन्द्रों से एकत्रित सीसीटीवी फुटेज की जांच की मांग करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि चुनाव प्रक्रिया के दौरान उनके प्रतिनिधि चुनाव कार्यालय पर मौजूद रहें. माकपा के राज्य सचिव गौतम दास ने पत्रकारों से कहा कि उनकी पार्टी ने त्रिपुरा पश्चिम के रिटर्निंग अधिकारी संदीप महात्मे को दोबारा चुनाव कराने के लिये शनिवार को ज्ञापन सौंपा है. Also Read - विपक्षी दलों ने की ‘अम्फान’ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग, 20 लाख करोड़ के ​पैकेज को सोनिया गांधी ने बताया 'क्रूर मजाक'

राहुल कहें तो वाराणसी से चुनाव लड़ने को तैयार हूं, मुझे खुशी होगी: प्रियंका गांधी Also Read - विभिन्न मुद्दों को लेकर विपक्षी दलों ने सदन में किया हंगामा, राज्यसभा की बैठक दो बजे तक स्थगित

वहीं, कांग्रेस के सचिव राहुल साहा ने कहा कि उनकी पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने दिल्ली में उप मुख्य चुनाव आयुक्त सुदीप जैन से मुलाकात कर भाजपा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. उन्होंने कहा, “त्रिपुरा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्रीराम तरणिकांती द्वारा वीडियो फुटेज की शुरूआती जांच के दौरान हमारी पार्टी के किसी भी प्रतिनिधि को आमंत्रित नहीं किया गया था.”