वाराणसीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां गुरुवार को कहा कि आतंक की चुनौती को एक पल के लिए भी कम आंकना देश के लिए अन्याय है. नया भारत आतंकवाद को कड़ा जवाब देता है. मोदी रोड शो और गंगा आरती के बाद प्रबुद्धजनों को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि आतंकवाद अब जम्मू-कश्मीर के छोटे से हिस्से में सिकुड़ कर रह गया, क्योंकि नया भारत आतंकवाद को कड़ा जवाब देना जनता है.

उन्होंने कहा, “पांच वर्ष पहले जब काशी की धरती पर मैंने कदम रखा था, तब मैंने कहा था कि मां गंगा ने मुझे बुलाया है. मैया ने ऐसा दुलार दिया, काशी के बहन-भाइयों ने इतना प्यार दिया कि बनारस के फक्कड़पन में ये फकीर भी रम गया. ये मेरा सौभाग्य है कि काशी की वेद परंपरा को ज्ञान के विश्लेषण व तार्किक अनुभवों से जुड़ सका.” उन्होंने कहा, “मैं मानता हूं कि इस समय भारत भी तपस्या के दौर में है. वो खुद को साध रहा है और इस साधना में हम सब एक सेवक हैं, साधक हैं.”

मोदी ने कहा, “मैं बहुत पहले काशी आया था तो उस समय एयरपोर्ट से शहर तक आने वाले रास्ते को देखकर बहुत पीड़ा हुई थी. शहर में पहुंचा तो बार-बार बिजली के लटकते तारों से सामना हुआ. मन में विचार उठा, यहां गंदगी के ढेर क्यों हैं.” उन्होंने कहा, “आज कह सकता हूं कि हम सभी के सामूहिक प्रयास और बाबा के आशीर्वाद से काशी के बदलाव को काशीवासियों समेत पूरा देश अनुभव कर रहा है.”

मोदी ने आगे कहा, “काशी ने मुझे सिर्फ एमपी नहीं, पीएम बनने का आशीर्वाद दिया. मुझे 130 करोड़ भारतीयों के विश्वास की ताकत दी. समर्थ, संपन्न और सुखी भारत के लिए विकास के साथ-साथ सुरक्षा अहम है.”