रतलामः कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा की 1984 के सिख दंगों पर कथित टिप्पणी ‘हुआ तो हुआ’ पर तीखा हमला बोलते हुए सोमवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि अपने सभी घोटालों, कारनामों पर देश की जनता के प्रति कांग्रेस का यही रवैया है. उन्होंने कहा, ‘‘यह केवल तीन शब्द नहीं हैं बल्कि यह तो कांग्रेस का अहंकार है. यह कांग्रेस की विचारधारा है. लेकिन जनता अब इन महामिलावटी लोगों को कह रही है ‘‘अब बहुत हुआ’ …. ‘इनफ इज इनफ.’’

रतलाम-झाबुआ लोकसभा क्षेत्र में चुनावी रैली को सम्बोधित कर रहे मोदी ने कहा कि बोफोर्स तोप घोटाला, पनडुब्बी घोटाला, हेलीकाप्टर घोटाला, कामनवेल्थ घोटाला, टू जी घोटाला, भोपाल जहरीली गैस कांड, जवानों को बुलेट प्रुफ जेकेट नहीं देने, आतंकवाद और नक्सलवाद में जवानों, लोगों की जान जाने जैसे सभी मामलों में कांग्रेस का एक ही जवाब होता है ‘‘हुआ तो हुआ.’’

उन्होंने कहा ‘‘हमारे संस्कार है कि हम मां भारती के वंदन से काम शुरु करते हैं लेकिन कांग्रेस को भारत माता की जय से दिक्कत है. संस्कारों का एक और उदाहरण है, कुछ दिन पहले यहां के एक सपूत धर्मेन्द्र सिंह ने आग से अपने युद्ध पोत को बचाते हुए सर्वोच्च बलिदान दे दिया. मैं उनको और उनके परिवार को नमन करता हूं.’’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘लेकिन दूसरी तरफ कांग्रेस का नामदार परिवार है. ये लोग पिकनिक के लिये देश के युद्धपोत का इस्तेमाल करते हैं और सवाल उठने पर बेखौफ कहते हैं, ‘हुआ तो हुआ’. यह तीन शब्द नहीं हैं. यह कांग्रेस का अहंकार हैं. देश की जनता के प्रति उनका रवैया है.’’ उन्होंने कहा ‘‘ये महामिलावटी लोग कह रहे हैं ‘हुआ तो हुआ’ लेकिन देश कह रहा है कि ‘महामिलावटी लोगों – अब बहुत हुआ .’’

प्रधानमंत्री ने कांग्रेस पर हिन्दू आतंकवाद का नया शिगूफ़ा गढ़ने का आरोप लगाते हुए कहा, ‘‘हमारी महान परम्परा को बदनाम करने की कांग्रेस की इस साजिश के कारण आतंकवादी बचते रहे और निर्दोषों का खून बहता रहा. यही कारण है कि कांग्रेस आज आतंकवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा पर बात करने से डरती है.’’ उन्होंने कहा कि नामदारों की गलत नीतियों के कारण देश में आये दिन बम धमाके हुए और विस्फोट करने वालों के तार सीमा पार तक जाते थे लेकिन कांग्रेस केवल कहती रही ‘हुआ तो हुआ.’