झाड़ग्राम (पश्चिम बंगाल): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को चुनौती दी कि वे उन्हें ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने पर गिरफ्तार करके दिखाएं. इससे एक दिन पहले तीन लोगों को उस वक्त हिरासत में लिये जाने की खबर आई थी जब घटाल लोकसभा क्षेत्र से उनके काफिले के गुजरने के दौरान उन्होंने यह नारा लगाया था. Also Read - Narada Case: नारद स्टिंग मामले में गिरफ्तार बंगाल के 2 मंत्रियों समेत चारों TMC नेताओं को मिली जमानत

Also Read - West Bengal Updates: राज्‍यपाल ने CM ममता बनर्जी से कहा, संवैधानिक मानदंडों का पालन करें

VIDEO: मुक्केबाज मोदी ने कोच आडवाणी पर ही मुक्के बरसा दिए: राहुल गांधी Also Read - कोरोना से एक और वरिष्ठ पत्रकार की हुई मौत, Zee 24 Ghanta के थे संपादक

सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में ममता बनर्जी पश्चिमी मिदनापुर जिले में राजमार्ग के किनारे ‘जय श्री राम’ का नारा लगाते कुछ ग्रामीणों पर नाराज होती नजर आ रही हैं. इसे लेकर पीएम मोदी ने कहा, “दीदी ने जय श्री राम बोलने पर लोगों को जेल भेज दिया. मैंने आज यहां जय श्री राम बोलने की सोची जिससे वह मुझे भी जेल में भेज सकें. इस तरह, बंगाल के लोगों को तृणमूल कांग्रेस के शासन से बचाया जा सकता है.” यहां एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी की भी रामायण और महाभारत के खिलाफ उनकी “अपमानजनक” टिप्पणियों के लिये आलोचना की.

पीएम मोदी के खिलाफ रद्द हुआ था नामांकन, सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाने पहुंचा तेजबहादुर यादव

उन्होंने कहा, “हिंदू धर्म के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल करना वामपंथियों की आदत बन गई है.” येचुरी ने हाल ही में रामायण और महाभारत जैसे ग्रंथों को हिंसा के उदाहरणों से भरा बताया था. माकपा नेता ने कहा था कि रामायण और महाभारत “हिंदू हिंसा के उदाहरणों से भरे हैं.” बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, “देश का प्रधानमंत्री बनने के लिये दीदी अपने महामिलावटी गिरोह पर भरोसा कर रही हैं.” प्रधानमंत्री ने कहा कि ममता बंगाल में 10 सीटें भी नहीं जीतेंगी.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com