नई दिल्‍ली: अभिनेता अक्षय कुमार ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गैर राजनीतिक बातचीत की. इस दौरान उन्‍होंने पीएम मोदी से पूछा कि क्‍या आपको गुस्‍सा आता है? और अगर आता है तो आप उसे कैसे मैनेज करते हैं. इस सवाल पर मुस्‍कुराते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अक्षय कुमार से कहा कि उनका मानना ​​है कि क्रोध नकारात्मकता को बढ़ाता है. रही बात गुस्‍से की तो इतने लंबे समय तक मुख्‍यमंत्री और अब प्रधानमंत्री रहा लेकिन मुझे कभी गुस्‍सा व्‍यक्‍त करने का अवसर नहीं आया.

 

अभिनेता अक्षय कुमार से बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने खुद को इस तरह से प्रशिक्षित किया है कि वे क्रोध व्यक्त नहीं करते हैं, इसके बजाय, वह दूसरों को प्रेरित करके स्थिति से बाहर निकलने की कोशिश करते हैं. अक्षय कुमार द्वारा यह पूछे जाने पर कि पीएम मोदी अपनी सख्ती के लिए जाने जाते हैं, उन्होंने कहा कि मैं सख्त और अनुशासित हूं लेकिन मुझे गुस्सा नहीं आता और न ही किसी व्यक्ति का अपमान करता हूं. उन्होंने कहा कि कठोर, अनुशासित और क्रोधित होना दो अलग चीजें हैं.

पीएम मोदी के लिए कुर्ते सिलवाती हैं ममता दीदी, शेख हसीना भेजती हैं स्‍पेशल मिठाईयां

इस तरह पीएम मोदी करते हैं गुस्‍से को काबू
पीएम मोदी ने आगे बताया कि अगर कुछ अप्रिय होता है, तो मैं इसके बारे में कागज के एक टुकड़े पर लिखता हूं और फिर उस कागज को फाड़ देता हूं. जब तक मैं शांत नहीं हो जाता हूं तब तक इस प्रक्रिया को फिर से दोहराता हूं. ऐसा करने से गुस्‍से अपने आप निकल जाता है.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com