मुंबईः वरिष्ठ भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा है कि भाजपा में वरिष्ठ नेताओं के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भावनाएं वैसी ही हैं जैसी किसी बेटे का अपने माता-पिता के लिए होती हैं. भाजपा के दिग्ग्ज नेता लालकृष्ण आडवाणी और वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी को टिकट नहीं देने को लेकर विपक्ष लगातार सत्तारूढ़ दल, विशेष रूप से प्रधानमंत्री और पार्टी प्रमुख अमित शाह पर निशाना साध रहा है. ऐसे में मुनगंटीवार का बयान अहम हो जाता है. मुनगंटीवार ने कहा, ‘अपने बड़ों (पार्टी में) के लिए प्रधानमंत्री मोदी की शुद्ध भावनाएं हैं जैसे अपने माता-पिता के लिए किसी बेटे का होता है.’

उन्होंने कहा कि मोदी और आडवाणी इस बात पर सहमत हैं कि 75 वर्ष की आयु पार करने के बाद, व्यक्ति को राजनीति में बने रहना चाहिए, हालांकि, नई पीढ़ी को भी मौका दिया जाना चाहिए. मुनगंटीवार ने कहा, ‘‘स्वास्थ्य भी 75 के बाद सक्रिय राजनीति करने की अनुमति नहीं देता है. इसलिए, उनका (मोदी) मानना है कि अनुभव का उपयोग राष्ट्र की भलाई के लिए किया जाना चाहिए.’’ उन्होंने इन दावों को खारिज कर दिया कि 2019 के लोकसभा चुनावों में भाजपा की सीटों की संख्या कम हो जाएगी और जोर देकर कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन मोदी के नेतृत्व में यह 350 का आंकड़ा पार कर सकता है.