केंद्रपाड़ा/बालेश्वरः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि ओडिशा में नवीन पटनायक सरकार का सत्ता से जाना तय है क्योंकि सत्तारूढ़ बीजद ने चुनाव में हार की आशंका से पश्चिम बंगाल की तरह हिंसा की संस्कृति को अपना लिया है. मोदी ने कहा, ‘‘मैं नवीन बाबू को बताना चाहता हूं कि आप जा रहे हैं. यह तय हो गया है और मुट्ठीभर अधिकारी आपको बचा नहीं सकते.’’

उन्होंने कहा कि वह चुनाव के पहले दो चरण में चुप रहे और पटनायक की आलोचना से दूरी बनाए रखी. उन्होंने कहा, ‘‘मैं संयम बरत रहा था क्योंकि मैं चाहता था कि नवीनबाबू गरिमापूर्ण तरीके से सत्ता से हट जाएं. लेकिन पिछले 10-12 दिनों में बंगाल की तरह भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ बीजद की हिंसा की गतिविधियों ने मुझे बोलने को मजबूर किया. नवीन बाबू आपका जाना तय है.’’

पटनायक ने सोमवार को भाजपा पर चुनावों में झूठ का सहारा लेने और हिंसा करने का आरोप लगाया था. राज्य में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ हो रहे हैं. मोदी ने कहा कि ओडिशा की जनता हिंसा की वजह से नाराज है और मुट्ठीभर अधिकारी पटनायक को बचा नहीं सकते. उन्होंने बीजद सरकार पर ‘‘भ्रष्टाचार का शैतान खड़ा करने और इसे दानव बनाने’’ का आरोप लगाया.

प्रधानमंत्री ने आज ओडिशा की केंद्रपाड़ा और बालेश्वर लोकसभा में दो रैलियों को संबोधित किया. उन्होंने बीजद सरकार पर कड़ा प्रहार किया और जनता की अनदेखी करने का आरोप उस पर लगाया.

मोदी ने कहा कि मतदाता केंद्र में और राज्य दोनों जगह ओडिशा के विकास तथा समृद्धि के लिए भाजपा सरकार चुनेंगे. मोदी ने कहा, ‘‘मुझ पर भरोसा कीजिए, एक मौका दीजिए और मैं आपको आपके सपनों का ओडिशा दूंगा. पांच साल में ओडिशा में पिछले 19 साल में बीजद द्वारा किये गये कार्याों से पांच गुना विकास देखने को मिलेगा.’’

उन्होंने नवीन पटनायक सरकार पर केंद्र प्रायोजित योजनाओं को लागू करने में रोड़े अटकाने का आरोप लगाया और कहा कि बीजद को ओडिशा के विकास की नहीं बल्कि केवल सत्ता से चिपके रहने की चिंता है. उन्होंने उड़िया भाषा में राज्य सरकार बदलने की बात कहते हुए नारा बोला, ‘‘राज्य सरकार, बदलीबा दरकार.’’