नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2019 के तीन चरणों के चुनाव हो चुके हैं, जबकि चार और चरण होने हैं. मगर चुनाव की आधिकारिक घोषणा से पहले ही भारतीय जनता पार्टी हो या कांग्रेस या अन्य विपक्षी दल, सभी पार्टियों का अनौपचारिक चुनावी अभियान इस साल की आमद के साथ ही शुरू हो चुका था. बहरहाल, चुनाव की आधिकारिक घोषणा के बाद विभिन्न एजेंसियों और समाचार माध्यमों ने प्रमुख नेताओं की गतिविधियों को ‘ट्रैक’ करना शुरू कर दिया. भाजपा की तरफ से जहां पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी पार्टी के चुनाव अभियान की बागडोर संभाल रखी है, वहीं कांग्रेस में पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के ऊपर यह जिम्मा है. इन दोनों नेताओं की चुनाव के दौरान व्यस्तता देखने लायक है. पीएम मोदी हर रोज देश के विभिन्न इलाकों में सभाएं और रैलियां कर रहे हैं. वहीं राहुल गांधी भी इसमें पीछे नहीं है.

पश्चिम बंगाल के मुस्लिमों को जागरूक कर रहे इमाम, वोटरों को भेजे 10 हजार से ज्यादा पत्र

ऐसे में कौन कितनी रैलियां और सभाएं कर रहा है या इसमें कौन अव्वल है, इस पर गौर करना लाजिमी है. तो आपको बता दें कि विभिन्न एजेंसियों या टीवी चैनलों द्वारा कराए गए चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में पीएम नरेंद्र मोदी ही देश के सर्वमान्य नेता के तौर पर उभरे हैं. राहुल गांधी का नाम पीएम मोदी के बाद ही आता है. लेकिन लोकसभा चुनाव का एक ‘सेग्मेंट’ है, जिसमें राहुल गांधी ने पीएम मोदी के मुकाबले बाजी मार ली है. जी हां, देशभर में घूम-घूमकर अपनी पार्टी और उसके उम्मीदवारों का प्रचार करने में राहुल गांधी, पीएम नरेंद्र मोदी पर भारी पड़े हैं. हमारी सहयोगी वेबसाइट डीएनए के मुताबिक, लोकसभा चुनाव प्रचार के क्रम में पीएम मोदी ने 23 अप्रैल तक कुल 65 हजार 302 किलोमीटर की यात्रा की है. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इतने ही दिनों में 84 हजार 990 किलोमीटर की यात्रा कर अपनी पार्टी के लिए चुनाव प्रचार किया है.

निर्वाचन आयोग की पहलः मतदान करने वालों को 5 हजार रुपए तक का इनाम, कई गिफ्ट भी

निर्वाचन आयोग की पहलः मतदान करने वालों को 5 हजार रुपए तक का इनाम, कई गिफ्ट भी

इस आंकड़े के मुताबिक पीएम मोदी और राहुल गांधी के चुनावी दौरों के बीच 20 हजार किलोमीटर से अधिक का अंतर है. यानी राहुल गांधी ने पीएम मोदी के मुकाबले इस लोकसभा चुनाव में 20 हजार किलोमीटर से ज्यादा की दूरी तय की है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का चुनावी ‘दौड़’ में आगे रहना और पीएम मोदी का इस मामले में ‘पिछड़’ जाना, हैरान करने वाला नहीं है. इसके पीछे जो वजह समझ में आती है, वह मात्र इतनी है कि नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं. उनके पास चुनाव कार्यक्रम के अलावा कई और काम भी होते हैं. देश के सबसे प्रमुख पद पर बैठे व्यक्ति के लिए सिर्फ रैलियां और चुनावी सभाएं करते रहना संभव नहीं है. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों में पूरी तरह से कांग्रेस पार्टी के पक्ष में प्रचार करने में व्यस्त रहे हैं.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com