नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के मतदान से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश की बलिया लोकसभा सीट पर चुनावी सभा को संबोधित किया. बलिया से लोकसभा चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह मस्त के समर्थन में रैली करने पहुंचे पीएम मोदी ने अपने चुनावी भाषण में सपा-बसपा गठबंधन पर निशाना साधा. बसपा प्रमुख मायावती और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वे इन दोनों नेताओं के मुकाबले ज्यादा दिनों तक सीएम पद पर रहे हैं. इस पद पर रहते हुए कई चुनाव कराए, लेकिन इसके लिए कभी अपनी जाति का सहारा नहीं लिया.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com

पीएम मोदी ने बलिया की जनसभा में कहा, ‘आज पूरे देश में गरीब माताओं बहनों का भरपूर समर्थन आपके इस सेवक को मिल रहा है. इसी समर्थन का परिणाम है कि महामिलावट वाले सपा, बसपा या कांग्रेस हो ये सारे एक ही काम में जुट गए हैं, मोदी को गाली देने में. इनकी गालियों का जवाब मोदी को नहीं देना पड़ेगा. पूरे हिंदुस्तान की जनता कमल के निशान पर बटन दबाकर हर गाली का जवाब देने वाली है. मैं तो माताओं-बहनों के सम्मान और गरीब के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए खड़ा हूं.’ मायावती और अखिलेश यादव पर हमला करते हुए उन्होंने कहा, ‘ये महामिलावटी लोग, पूछ रहे हैं कि, मोदी की जाति क्या है? बुआ-बबुआ दोनों मिलकर जितने साल मुख्यमंत्री नहीं रहे, उससे कहीं ज्यादा समय मैं गुजरात का सीएम रहा हूं. मैंने अनेक चुनाव लड़े और लड़ाए हैं, लेकिन कभी अपनी जाति का सहारा नहीं लिया.’

पीएम मोदी की आज बिहार और यूपी में 3 रैलियां, राहुल गांधी मध्यप्रदेश में करेंगे प्रचार

गरीबी को लेकर की गई टिप्पणी पर भी पीएम मोदी ने निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘मैंने गरीबी, पिछड़ेपन को भुगता है. जो दर्द आज आप सह रहे हैं, वो मैंने खुद से सहा है. मैं, मेरा पिछड़ापन और मेरी गरीबी दूर करने के लिए नहीं बल्कि आप के लिए जीता हूं. इसलिए मुझे विश्वास है कि इस परिस्थिति को दूर करने के लिए हम सफल होंगे. इन महामिलावटी लोगों ने कैसी राजनीति की है, सत्ता के नाम पर कैसे आपको धोखा दिया है. इन लोगों ने जाति की राजनीति के नाम पर अपने और अपने रिश्तेदारों के लिए बंगले खड़े किए हैं, महल बनाए हैं. इन्होंने नामी और बेनामी संपत्ति का अंबार लगाया है.’

अपने सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए पीएम मोदी ने बलिया की सभा में कहा, ‘मैंने कभी गरीब के पैसे लूटने का कोई पाप नहीं किया है. हमारे लिए गरीब का कल्याण और मातृभूमि का सम्मान, उसकी रक्षा ये हमारी जिंदगी से भी सर्वोपरि है. यही कारण है कि पाकिस्तान और उसके आतंकियों की सारी हेकड़ी आज हवा हो गई है. किसान और मजदूर को 60 वर्ष के बाद पेंशन मिले इसकी योजना भी ये चौकीदार ने बनाई है.’ भाजपा सरकार द्वारा सवर्ण आरक्षण के मसले पर प्रधानमंत्री ने कहा, ‘गरीबी की प्रेरणा से ही सामान्य वर्ग के गरीबों को 10% का आरक्षण दिया गया. ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया. सबका साथ सबका विकास हमारा मंत्र है. सबको सुरक्षा और सम्मान ये हमारा प्रण है. इसी पर चलते हुए पूर्वांचल और पूर्वी भारत के विकास पर हमने विशेष ध्यान दिया है. आज बलिया में ट्रेनों की आवाजाही बढ़ी है, रेल लाइनों का बिजलीकरण हुआ है, बलिया से वाराणसी का सफर आसान हुआ है. जब कनेक्टिविटी अच्छी होती है तब उद्योगों की संभावनाएं बढ़ती हैं.’