रतलाम: पीएम नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह पर तंज कसते हुए सोमवार को कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए रविवार को हुए मतदान के दौरान वोट न डालकर दिग्गी राजा (दिग्विजय) ने बहुत बड़ा पाप किया है. रतलाम लोकसभा सीट के भाजपा प्रत्याशी जी एस डामोर के लिए चुनाव प्रचार करने मध्‍य प्रदेश के रतलाम में आए मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, ”साथियों, इनका (दिग्विजय) अहंकार कल भोपाल ने भी देखा. जब देश लोकतंत्र का पर्व मना रहा है, अपना प्रतिनिधि चुन रहा है, मैं खुद अहमदाबाद गया था अपना वोट डालने के लिए. राष्ट्रपति एवं उपराष्ट्रपति भी वोट डालने के लिए कतार में खड़े थे.” पीएम ने कहा, ” और दिग्गी राजा…., उनको न लोकतंत्र की चिंता थी, न नागिरकों की चिंता थी और न मतदाताओं की चिंता थी. उन्होंने वोट डालने की जरूरत भी नहीं समझी.” उन्होंने कहा, ”अरे, आपने वोट न डालकर बहुत बड़ा पाप किया है दिग्गी राजा”.

दिग्विजय भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी हैं और इस सीट पर उनका मुकाबला भाजपा प्रत्याशी एवं मालेगांव बम विस्फोट की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर से है. इस सीट पर कल मतदान हुआ था, जिसके कारण वह अपने लोकसभा क्षेत्र में थे और वोट देने के लिए मध्यप्रदेश के राजगढ़ लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले अपने पैतृक कस्बे राघौगढ़ नहीं जा पाए थे.

मोदी ने कहा, लोकतंत्र में पसंद-नापसंद हो सकती है. आपकी, यहां मुख्यमंत्री से खींचतान हो सकती है. संभव है कि आपको वहां का उम्मीदवार पसंद न हो. वह आपके घर का झगड़ा है. अरे अंदर जाना था, उंगली दबाए बिना वापस नहीं आना था. इतना तो कर देना था. आपका उनसे झगड़ा है, आपकी अंदरूनी लड़ाई है, इस प्रकार जाहिर कर दी आपने? आपने उनके वोट का बहिष्कार कर दिया. ऐसा क्या झगड़ा है आपका ? अरे, दिग्गी राजा इतना क्यों डर गए ?”

पीएम ने कहा, आप तो जाकिर नाइक से भी नहीं डरते, तो फिर आपको अपने ही क्षेत्र के लोगों से डर क्यों लगा? मोदी ने कहा, कांग्रेस के महामिलावटी लोगों को देश का फर्स्ट टाइम वोटर बड़ी बारीकी से देख रहा है. मोबाइल फोन पर वह दुनिया की सारी खबरों को तलाशता है. वह युवा साथी, जो देश के विकास के लिए वोट करने निकल रहा है, जो 21वीं सदी में भारत की दिशा तय करने के उद्देश्य से वोट डालने के लिए निकल रहा है, उसे आप सिखा रहे हैं कि मतदान करना जरुरी नहीं है.