नई दिल्ली. महाराष्ट्र के लातूर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान नरेंद्र मोदी की मंच पर मौजूदगी में शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा कि मोदी दी इस बार सरकार आने पर पाकिस्तान से ऐसे निपटा जाए कि उसका नामों निशान ना बचे. बता दें कि लोकसभा चुनाव के पहले चरण का चुनाव 11 अप्रैल को है. इससे पहले पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, आपकी शुभकामनाओं, विश्वास ने मुझे बड़े काम करने की हिम्मत दी. हमारा लक्ष्य भारत को नक्सल, माओवादी संकट से मुक्त करना है. आतंकवादियों को उनके घर में घुसकर मारना नए भारत की नीति है.

पीएम ने कहा, कांग्रेस पाकिस्तान बनाने के लिए जिम्मेदार है. जो कांग्रेस का ढकोसला पत्र है, पाकिस्तान भी वही बोलता है. कांग्रेस ने बाल ठाकरे से मतदान का अधिकार छीन लिया था. कांग्रेस को अपने जवानों पर ही भरोसा नहीं है. एयर स्ट्राइक के सबूत तो पाकिस्तान ने ही दिए. सुरक्षा से खिलवाड़ करने वालों की जमानत जब्त कराएं. पिछली सरकारें किसानों की समस्या नहीं समझ सकीं. उनका ढकोसला पत्र वोट के लिए, हमारा संकल्प पत्र वोटर के लिए. यह संकल्प पत्र पूरे 5 साल के लिए है.

चौकीदार पर ये कहा
उन्होंने कहा, वे कहते हैं कि चौकीदार चोर है, लेकिन नोटों के बंडल किसके यहां से जब्त हो रहे हैं. मोदी ने पहली बार मतदान करने वाले लोगों से पूछा, क्या आपका पहला वोट हवाई हमला करने वालों के लिए होगा. हमने घोषणापत्र में हवाई हमले की बात नहीं की लेकिन जरूरत होने पर इसे अंजाम दिया. कांग्रेस, राकांपा उन लोगों का समर्थन कर रही है जो जम्मू-कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री चाहते हैं, क्या यह पवार को शोभा देता है.

सबूत मांगने पर विपक्ष पर प्रहार
उन्होंने, भारत ने पाकिस्तान के विमान को मार गिराया, यह साबित करने के लिए कांग्रेस नेताओं को कितने सुबूत चाहिए. स्वतंत्रता से पहले कांग्रेस नेताओं ने अगर समझदारी से काम लिया होता तो आज ‘‘यह पाकिस्तान’’ नहीं बना होता. कश्मीर संबंधी मुद्दों पर कांग्रेस का घोषणापत्र और पाकिस्तान की भाषा समान.