अयोध्या: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने गांधी परिवार की तुलना राजशाही से करने पर भाजपा की निंदा की और खुलासा किया कि उनकी दादी इंदिरा गांधी ने राजशाही वाली सुविधाओं से परिवार को मुक्त रखा था. यहां शुक्रवार को सनबीम पब्लिक स्कूल के छात्रों से बातचीत करते हुए प्रियंका ने यह भी कहा कि उनका ‘भावनात्मक सपना’ ऐसे भारत को देखने का, जहां कोई किसी से यह न पूछे कि उसका धर्म क्या है. वर्ष 1972 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने महाराजाओं को दी जाने वाली सुविधाओं से अपने परिवार को दूर रखा था. उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं हो पाता, अगर गांधी परिवार खुद को शाही परिवार के रूप में देखता.

‘मैं भी चौकीदार’ के जवाब में कांग्रेस ने शुरू किया ‘मैं भी बेरोजगार’ अभियान, ट्विटर पर छाया

संवाद सत्र में भाग लेनेवाले एक कांग्रेस नेता ने शनिवार कहा कि एक छात्रा ने प्रियंका से पूछा कि भारत के भविष्य के बारे में उनका सपना क्या है. जवाब में उन्होंने कहा कि भारत के लिए उनका ‘भावनात्मक सपना’ है. एक ऐसे भारत को देखने का सपना, जहां कोई किसी से यह न पूछे कि उसका धर्म क्या है. हिंदुत्व, ईसाइयत, इस्लाम या किसी अन्य धर्म के बारे में कोई सवाल न करे. कांग्रेस नेता ने कहा कि वह ऐसा भारत देखना चाहती हैं, जहां “महिलाएं पुरुषों के बराबर हों और उनके साथ वैसा व्यवहार न हो जैसा आज हो रहा है.” तीन दिनी प्रदेश दौरे पर निकलीं पूर्वी उत्तर प्रदेश प्रभारी अयोध्या जाने से पहले अपने भाई व पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के निर्वाचन क्षेत्र अमेठी और मां व संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली गईं.

राज्यपाल ने की पीएम मोदी को जिताने की अपील, डीएम ने चुनाव आयोग को वीडियो सौंपा

अयोध्या में प्रियंका एक मजार पर गईं और हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की. उन्होंने प्रदेश में बनाए गए रोमियो स्क्वैड पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ये युवा जोड़ों को प्रताड़ित करने के औजार बन गए हैं. प्रियंका राहुल गांधी द्वारा किए गए न्याय (न्यूनतम आय योजना) के वादे की आलोचना किए जाने को लेकर भी भाजपा पर बरसीं. भाजपा नेताओं का कहना है कि पैसे की कमी के कारण राहुल का यह वादा पूरा नहीं हो सकता. जवाब में प्रियंका ने कहा, “भाजपा यह जवाब दे कि सरकार उद्योगपतियों के कर्ज माफ करने के लिए पैसे कहां से लाई थी.”