नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस और बीजेपी के नेताओं के बीच कड़वे आरोप- प्रत्‍यारोप के बावजूद यूपीए की प्रमुख सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और आनंद शर्मा    पीएम नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे. गुरुवार शाम को राष्ट्रपति भवन में आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ-ग्रहण समारोह में हिस्सा लेंगे. बता दें कि राहुल और सोनिया को शपथ-ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री की ओर से आमंत्रित किया गया है. सूत्रों ने बताया कि दोनों नेताओं ने आमंत्रण स्वीकार कर लिया है.

इस्तीफे पर अब भी अड़े राहुल गांधी, शीला समेत कई नेताओं ने फैसला बदलने का आग्रह किया

कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने कहा, ”यह लोकतांत्रिक परिपाटी है कि शपथ ग्रहण समारोह में विपक्षी दलों के नेताओं को आमंत्रित किया जाता है और वे जाते हैं. सोनिया जी और राहुल जी को भी प्रधानमंत्री की तरफ से आमंत्रित किया गया है और वे गुरुवार को शपथ ग्रहण में शामिल होंगे. दरअसल, गत 25 मई को हुई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के बाद राहुल गांधी पहली बार किसी सार्वजनिक या आधिकारिक कार्यक्रम में शिरकत करेंगे.

सीडब्ल्यूसी की बैठक में गांधी ने लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की पेशकश की थी, हालांकि, सीडब्ल्यूसी के सदस्यों ने उनकी पेशकश को ठुकरा दिया और पार्टी में आमूलचूल परिवर्तन के लिए उन्हें अधिकृत किया. इस बैठक के बाद से राहुल गांधी ने कांग्रेस नेताओं से मिलना बंद कर दिया है और वह इस्तीफा देने के अपने फैसले पर अड़े हुए हैं.

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ने एक दिन पहले समारोह में जाने की बात कहने के बाद दूसरे दिन बुधवार को यह कहते हुए इनकार कर दिया कि बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्‍याओं को राजनीतिक बता रही है, जबकि ये व्‍यक्‍तिगत कारणों से हुई हैं. बीजेपी ने मारे गए कार्यकर्ताओं के परिवारों को पीएम के इस समारोह में आमंत्रित किया है. ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे.

कैबिनेट की कवायद: अमित शाह की नीतीश कुमार के साथ बैठक, मोदी से फिर मिले बीजेपी अध्यक्ष

पीएम के शपथ ग्रहण समारोह में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी के शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे.

टीएमसी में मची भगदड़, एक और एमएलए समेत कई नेता बीजेपी में हुए शामिल

विदेशी नेताओं में नेपाल के प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली के अलावा बिम्सटेक देशों के नेताओं के साथ-साथ शंघाई सहयोग संगठन के वर्तमान अध्यक्ष और किर्गीस्तान के वर्तमान राष्ट्रपति जीनबेकोव और मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ को भी इस शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया है. भारत के अलावा बिम्सटेक में बांग्लादेश, म्यामां, श्रीलंका, थाईलैंड, नेपाल और भूटान शामिल हैं.

राहुल गांधी के घर के बाहर जुटे सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता, ‘इस्तीफा वापस लो’ के लगाए नारे

मोदी नीत भाजपा ने हाल में सम्पन्न लोकसभा चुनाव में 542 सीटों में से 303 सीटों पर जीत दर्ज की थी. 2014 में जब मोदी पहली बार भारत के प्रधानमंत्री निर्वाचित हुए थे, तब नेपाल के तत्कालीन प्रधानमंत्री सुशील कोईराला उनके शपथग्रहण समारोह में दक्षेस के अन्य सदस्य देशों के प्रमुखों के साथ शामिल हुए थे. आर्यल ने कहा कि ओली का 31 मई को स्वदेश वापसी का कार्यक्रम है.