सिमडेगा: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की यहां आयोजित रैली में आयोजक उस समय सकते में आ गए जब मंच से ‘चौकीदार चोर है’ के नारे लगते समय अग्रिम पंक्ति में बैठी कुछ स्थानीय आदिवासी महिलाएं ‘मोदी जिन्दाबाद’ के नारे लगाने लगीं. गांधी ने राज्य की खूंटी लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी कालीचरण मुंडा के पक्ष में आयोजित चुनावी रैली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार पर तीखे हमले किये. उनका भाषण समाप्त होते ही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने मंच से ‘चौकीदार चोर है’ के नारे लगवाने प्रारंभ किये तो मंच के सामने पत्रकार दीर्घा के ठीक पीछे बैठी आधा दर्जन आदिवासी महिलाएं ‘मोदी जिन्दाबाद’ के नारे लगाने लगीं.

यह देखकर आयोजक थोड़े देर के लिए सन्न रह गए. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समर्थन में नारे लगा रही महिलायों से मीडियाकर्मियों ने इसकी वजह पूछी तो उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ हैं क्योंकि उन्होंने शौचालय, गैस कनेक्शन, मकान और बिजली दी है. ये आदिवासी महिलाएं यहीं तक नहीं रुकीं, उन्होंने पत्रकारों से पूछा कि क्या उनकी नारेबाजी के बारे में नोट कर लिया गया है या नहीं.