नयी दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए शनिवार को पार्टी की कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में पद से इस्तीफे की पेशकश की, लेकिन सदस्यों ने इसे ठुकरा दिया और प्रतिकूल परिस्थिति में उनसे नेतृत्व करते रहने का आग्रह किया.

 

सीडब्ल्यूसी की बैठक में गांधी को पार्टी संगठन के पुनगर्ठन के लिए अधिकृत किया गया. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह जानकारी दी. कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार के कारणों पर मंथन किया गया. इस बैठक में राहुल गांधी के अलावा संप्रग प्रमुख सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कार्यसमिति के अन्य सदस्य शामिल हुए.

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार
गौरतलब है कि इस लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा है. वह 52 सीटों पर सिमट गई है. वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में 44 सीटें जीतने वाली पार्टी को इस बार बेहतर की उम्मीद थी, लेकिन उसकी उम्मीदों पर पानी फिर गया.

मैं अध्यक्ष नहीं रहना चाहता हूं, बिना किसी पद के पार्टी के लिए काम करता रहूंगा: राहुल गांधी