नई दिल्लीः भाजपा की ओर से सोमवार को लोकसभा चुनाव 2019 के लिए जारी संकल्प पत्र में किए गए वादों को लेकर राजनीति शुरू हो गई है. इस घोषणा पत्र में तमाम तरह के वादों के साथ केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर है. परोत्र तौर पर इसी बात को लेकर विपक्षी कांग्रेस पार्टी ने भी इसकी आलोचना की है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा के घोषणापत्र को एक व्यक्ति की आवाज करार देते हुए मंगलवार को दावा किया कि इसे बंद कमरे में तैयार किया गया है और इसमें दूरदर्शिता का अभाव है. उन्होंने यह दावा किया कि उनकी पार्टी का घोषणापत्र लंबे विचार-विमर्श के बाद तैयार किया गया है और उसमें जनता की आवाज शामिल है.

राहुल गांधी ने ट्वीट किया है, ‘कांग्रेस का घोषणापत्र विचार-विमर्श के माध्यम से तैयार हुआ. इसमें 10 लाख से अधिक भारतीय नागरिकों की आवाज शामिल है. यह समझदारी भरा और प्रभावशाली दस्तावेज है.’ उन्होंने दावा किया कि भाजपा का घोषणापत्र बंद कमरे में तैयार किया गया है. इसमें एक अलग-थलग पड़ चुके व्यक्ति की आवाज है. यह अदूरदर्शी और अहंकार भरा है.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने सोमवार को ‘संकल्प पत्र’ के नाम से अपना घोषणापत्र जारी किया. इसमें भाजपा ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर जोर देने के साथ आतंकवाद के खिलाफ ‘जीरो टॉलरेन्स’ की प्रतिबद्धता दोहराई है. इसके साथ ही 60 साल की उम्र के बाद किसानों और छोटे दुकानदारों को पेंशन देने सहित कई वादे किए गए हैं.

(इनपुट-भाषा)