कोझिकोड. उत्तर प्रदेश में अपनी परंपरागत अमेठी सीट के अलावा केरल में वायनाड संसदीय क्षेत्र से भी चुनाव लड़ रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को सुबह साढ़े 11 बजे अपना नामांकन पत्र दाखिल करेंगे. पार्टी के वरिष्ठ नेता रमेश चेन्नितला ने यह जानकारी दी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केरल के प्रभारी महासचिव मुकुल वासनिक ने बताया कि नामांकन के दौरान गांधी के साथ उनकी बहन और पूर्वी उत्तर प्रदेश के लिए कांग्रेस की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी भी मौजूद रहेंगी. गांधी बुधवार रात को यहां पहुंचे और पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया. उनके कुछ देर बाद प्रियंका भी यहां पहुंचीं. वह अलग से आयीं.

कांग्रेस के ‘न्याय’ पर बोलकर फंसे नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने दी सफाई- वह मेरी निजी राय थी

राहुल गांधी जब हवाई अड्डे से बाहर निकले तो बड़ी संख्या में पार्टी के युवा कार्यकर्ता स्वागत करते हुए नजर आए. गांधी ने भी अभिवादन किया. कांग्रेस प्रमुख की चेन्नितला, ओम्मन चांडी, मुल्लापल्ली रामचंद्रन, आईयूएमल नेता पी के कुन्हलिकुट्ट और ई टी मुहम्मद बशीर ने अगवानी की. बाद में वह और प्रियंका हवाई अड्डे से सुरक्षित मार्ग से गेस्ट हाउस गए.

चेन्नितला ने कहा, ‘‘राहुल गांधी और प्रियंका गेस्टहाउस के लिए जा चुके हैं. राहुल आज रात वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक कर सकते हैं. यूडीएफ कार्यकर्ता उनकी उम्मीदवारी से उत्साहित हैं.’’ चांडी ने कहा कि वायनाड में राहुल की उम्मीदवारी से यूडीएफ को 23 अप्रैल को चुनाव में जीत मिलेगी. दिन में असम और नगालैंड में कई चुनावी सभाएं करने के बाद राहुल गांधी रात करीब साढ़े नौ बजे यहां करीपुर हवाई अड्डा पहुंचे. रात में गेस्टहाउस में ठहरने के बाद दोनों नेता (राहुल और प्रियंका गांधी) गुरुवार की सुबह वायनाड जाएंगे.

लालू यादव ने नीतीश कुमार पर कसा तंज- 'कमल के फूल को चीरने का काम कर रहा तीरवा, कुछ बूझे?'

लालू यादव ने नीतीश कुमार पर कसा तंज- 'कमल के फूल को चीरने का काम कर रहा तीरवा, कुछ बूझे?'

चेन्नितला ने कहा, ‘‘नामांकन पत्र भरने से पहले सुबह करीब साढ़े नौ बजे कांग्रेस प्रमुख रोडशो करेंगे.’’ वासनिक ने दावा किया कि राहुल गांधी की उम्मीदवारी से वायनाड संसदीय क्षेत्र के लोग बेहद उत्साहित हैं. वासनिक ने पत्रकारों से यहां कहा, “पूरी कांग्रेस पार्टी और यूडीएफ ने राहुल जी को केरल से चुनाव लड़ने का निमंत्रण दिया था. इसी तरह के निमंत्रण कर्नाटक और तमिलनाडु से भी आए थे.