नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में कुछ ऐसे नेता भी सामने आ रहे हैं, जो ऐन मौके पर चुनाव लड़ने से इनकार कर रहे हैं. कांग्रेस का एक ऐसा ही मुखर चेहरा है, जो पार्टी के लिए हर जगह वकालत करते हुए दिखाई देता है, लेकिन उन्‍होंने निजी समस्‍याओं का हवाला देते हुए चुनावी जंग से खुद को पीछे कर लिया है. उत्तर प्रदेश के अमरोहा लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस के उम्मीदवार घोषित किए गए राशिद अल्वी ने निजी समस्याओं का हवाला देते हुए सोमवार को कहा कि वह चुनाव नहीं लड़ेंगे और इस बारे में उन्होंने पार्टी आलाकमान को सूचित कर दिया है. Also Read - West Bengal Assembly Election: कांग्रेस का ममता बनर्जी को बड़ा ऑफर, कहा- पश्चिम बंगाल में मिलकर चुनाव लड़े TMC, बीजेपी से...

नितिन गडकरी ने नागुपर लोकसभा सीट से नामांकन पत्र दाखिल किया, बड़े जीत का दावा Also Read - कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, राहुल-प्रियंका भी हुए शामिल, कहा- पूंजीपतियों को फायदा पहुंचा रही बीजेपी

वहीं, कांग्रेस ने सोमवार को दूसरा उम्‍मीदवार घोषित कर दिया है. कांग्रेस ने दूसरे सचिन चौधरी को राशिद अल्‍वी के स्‍थान पर अमरोहा लोकसभा सीट से उम्‍मीदवार घोषित किया है. बता दें कि अमरोहा से हाल ही में अल्वी को कांग्रेस ने अपना उम्मीदवार घोषित किया था. इस सीट से हाल ही में जद(एस) से बसपा में शामिल हुए कुंवर दानिश अली भी चुनाव लड़ रहे हैं. अल्वी पहले इस सीट से बसपा के टिकट पर निर्वाचित हुए थे. बाद में वे कांग्रेस में शामिल हो गए थे. Also Read - राहुल गांधी की अपील- पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते जा रहे दाम, किसान भी परेशान, सरकार के खिलाफ 'सत्याग्रह' में शामिल हों लोग

अल्वी ने कहा, मेरी कुछ निजी समस्याएं हैं जिनकी वजह से मैं चुनाव नहीं लड़ पा रहा हूं. यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने अपने फैसले के बारे में कांग्रेस आलाकमान को सूचित कर दिया है तो उन्होंने कहा, मैंने सूचित कर दिया है.