पटना. राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने बिहार वासियों से केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को दिल्ली से खदेड़ देने की अपील की है. बुधवार को लालू प्रसाद को उच्चतम न्यायालय से जमानत नहीं मिलने के बाद राजद द्वारा जारी उनके (लालू प्रसाद के) इस पत्र में बिहार वासियों से केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को दिल्ली से खदेड़ देने की अपील की गई है. लालू प्रसाद चारा घोटाला के मामले में सजायाफ्ता हैं और वर्तमान में रांची स्थित रिम्स अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है.

बिहार में राजद को लगा बड़ा झटका, पूर्व सांसद समेत कई नेताओं ने दिया इस्तीफा

लालू ने अपने पत्र में लिखा है, ‘‘इस वक़्त जब बिहार एक नई गाथा लिखने जा रहा है, लोकतंत्र का उत्सव चल रहा है. यहां रांची के अस्पताल में अकेले में बैठकर मैं सोच रहा हूं कि क्या विध्वंसकारी शक्तियां मुझे इस तरह कैद कराके बिहार में फिर किसी षड्यंत्र की पटकथा लिखने में सफल हो पाएंगी? मेरे रहते अपने बिहारवासियों के साथ मैं फिर से धोखा नहीं होने दूंगा. मैं कैद में हूं, मेरे विचार नहीं. अपने विचारों को आपसे साझा कर रहा हूं, क्योंकि एक दूसरे से विचारों को साझा करके ही हम इन बांटने वाली ताकतों से लड़ सकते हैं.’’

यूपी की इस सीट से 3 दलों ने एक ही दल के पूर्व सांसदों को दिया टिकट, रोचक हुआ मुकाबला

राजद प्रमुख ने लिखा है कि रांची के अस्पताल में अभी शाम में अकेले बैठकर आप लोगों से बात करने का मन हुआ. जैसा कि आप सब जानते ही हैं लोकसभा चुनाव का बिगुल फुंक चुका है. देश में बहुत बार चुनाव हुए, पर इस बार का चुनाव पहले जैसा नहीं है. इस बार के चुनाव में सब कुछ दांव पर है, देश, समाज, लालू यानी आपको बराबरी से सिर उठाकर चलने का जज्बा देने वाला और आपके हक और आपकी इज्ज़त और गरिमा सब दांव पर है. लड़ाई आर-पार की है. लालू ने लिखा,‘‘ मेरे गले में सरकार और चालबाजों का फंदा कसा हुआ है, उम्र के साथ शरीर साथ नहीं दे रहा, पर आन और आबरू की लड़ाई में लालू की ललकार हमेशा रहेगी. ई ललकार हमारे सिपाहियों के दम पर है. जो हार में, जीत में हर हाल में मैदान में डटने वाला रहा है, पीठ दिखाकर भागनेवाला नहीं. जैसे गांधी जी ललकार कर अंग्रेजों भारत छोड़ो कहने के बाद करो या मरो का नारा दिए थे, वैसे ही ई लड़ाई देश तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ है, संविधान में दिए हक की हिफाजत की लड़ाई है.’’

मिथिलांचल से कोयलांचल पहुंचे कीर्ति आजाद, कांग्रेस के टिकट पर धनबाद से लड़ेंगे चुनाव

लालू ने अपने पत्र में लिखा है कि आरक्षण और संविधान विरोधी नरेंद्र मोदी को खदेड़ने की लड़ाई में करो या मरो वाले जज्बे की जरूरत है. हर आदमी को लालू यादव बनना होगा, उसकी तरह डटना होगा, लालू यादव की तरह लड़ना होगा. सामने चाहे कितनी भी मुश्किल हो, डर और धमकी हो, लालच हो, खतरा हो डटकर लड़ना होगा और गरीब-गुरबों की मान-प्रतिष्ठा बचानी होगी. राजद प्रमुख ने अपने पत्र में लिखा, ‘‘ई सरकार नौटंकी सरकार है. कभी देश खतरा में, कभी हिंदू खतरा में, कभी अर्थव्यवस्था खतरा में, के नाम पर आप लोगों को खबास (गुलाम) बना के रखना चाहता है. बस एक बार और हाथ जोड़कर अपने दलित बहुजन साथियों से आग्रह है कि एकता कायम करिए, संघर्ष कीजिए. दिल्ली के तख़्त पर वंचित समाज के लोगों का कब्ज़ा ज़रूरी है.’’

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com