नई दिल्ली: लोकसभा चुनावों में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की बुरी तरह के बाद लालू प्रसाद यादव की तबियत बिगड़ गई है. इस समय जेल में बंद राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव की दिनचर्या में बदलाव आया है. वह खाना ठीक से नहीं खा रहे हैं. इस कारण उनकी तबियत बिगड़ गई है. हालांकि डॉक्टर्स का कहना है कि दिनचर्या में बदलाव के कारण वह उन्हें दवाईयां वगैरह ठीक से नहीं दे पा रहे हैं. इंसुलिन देने में परेशानी आ रही है. अगर ये सब चीज़ें रुकती हैं तो निश्चित ही उनकी सेहत पर इसका असर पड़ेगा.

डॉक्टर्स का कहना है कि हम उनकी देख-रेख कर रहे हैं. चुनाव के दौरान भी लालू प्रसाद यादव की तबियत बिगड़ी थी, तब भी उन्हें जेल से अस्पताल में भर्ती कराया गया था. चारा घोटाला मामले में बंद लालू यादव हालांकि जेल से ही चुनाव में सक्रिय होने की कोशिश कर रहे थे. वह ट्विटर पर ट्वीट कर नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे थे. इस तरह वह चर्चा में बने हुए थे, लेकिन लालू की ये सक्रियता किसी भी तरह से चुनावी नतीजों पर असर नहीं डाल सकी.

राजद के सामने नहीं है कोई विकल्प! जातिवाद की राजनीति छोड़ क्या करेगी पार्टी?

एक समय बिहार की राजनीति की धुरी रहे लालू प्रसाद यादव के जेल जाने के बाद राष्ट्रीय जनता दल अपने सबसे बुरे दौर में है. लालू के बेटे के नेतृत्व में राजद ने कांग्रेस सहित कई दलों से गठबंधन किया था, इसके बाद भी राजद को बिहार में 40 सीटों में से एक भी सीट हासिल नहीं हुई है. जबकि नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और बीजेपी ने मिलकर लगभग सभी सीटों पर कब्ज़ा कर लिया.