लखनऊ: समाजवादी पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश के चार और उम्मीदवारों की सूची शुक्रवार को जारी कर दी. सपा ने एक विज्ञप्ति में बताया कि वर्तमान सांसद तबस्सुम हसन को कैराना से और शफीक उर रहमान बर्क को संभल से पार्टी प्रत्याशी बनाया गया है. चर्चा थी कि मुलायम सिंह यादव की बहु अपर्णा यादव को संभल से टिकट दिया जा सकता है, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि मुलायम सिंह यादव ने अपर्णा को संभल से टिकट दिलाए जाने के लिए अखिलेश से बात की थी, लेकिन ऐसी ख़बरों के एक-दो दिन के भीतर ही संभल से शफीक उर रहमान को प्रत्याशी बना दिया गया.

कभी ‘किराने के तरानों’ के लिए दुनिया में मशहूर था कैराना, भारत रत्न भीमसेन जोशी, मोहम्मद रफ़ी रहे यहां के शागिर्द

इसके अलावा, विनोद कुमार उर्फ पंडित सिंह गोण्डा से और राम सागर रावत बाराबंकी (सुरक्षित) सीट से सपा की टिकट पर चुनाव लड़ेंगे. गौरतलब है कि तबस्सुम पिछले साल लोकसभा उपचुनाव में कैराना सीट से विजयी रही थीं. उन्हें भाजपा के खिलाफ विपक्ष का संयुक्त उम्मीदवार बनाया गया था.

कैराना उपचुनाव में गठबंधन की तबस्सुम की बड़ी जीत, इन 8 Factor ने किया काम

सपा 11 उम्मीदवारों की तीन सूची पहले ही जारी कर चुकी है. शुक्रवार की सूची के साथ ही पार्टी 15 सीटों के लिए अपने प्रत्याशी तय कर चुकी है. सपा-बसपा के बीच चुनावी गठबंधन के तहत सपा के हिस्से में 37 सीटें आयी हैं. उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. अजित सिंह की रालोद को तीन सीटें दी गयी हैं जबकि गठबंधन ने दो सीटों सोनिया गांधी का निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली और राहुल गांधी का क्षेत्र अमेठी से प्रत्याशी नहीं उतारने का फैसला किया है.