भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने छिंदवाड़ा में हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति न दिए जाने पर जिलाधिकारी को पिट्ठू कहा था. इस बयान के तूल पकड़ने पर गुरुवार को शिवराज ने सफाई दी है. चौहान बुधवार को छिंदवाड़ा जिले के चौरई कस्बे में जनसभा को संबोधित करने गए थे, जहां से उनके हेलिकॉप्टर को जिला प्रशासन के निर्देश पर पांच बजे से पहले रवाना कर दिया गया. इस पर चौहान ने सड़क मार्ग का सहारा लिया. वहीं कांग्रेस इस मामले की शिकायत चुनाव आयोग से करने की तैयारी में है.

VIDEO: शिवराज बोले- ये पिट्ठू कलेक्‍टर सुन ले रे, हमारे दिन भी जल्‍दी आएंगे, तब तेरा क्‍या होगा?

इस मौके पर चौहान ने प्रशासन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ के दवाब में काम करने का आरोप लगाते हुए धमकी दी थी, “ए पिट्ठू कलेक्टर सुन ले रे, हमारे भी दिन आएंगे, तब तेरा क्या होगा.” शिवराज के इस बयान पर कांग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत करने का फैसला किया है, साथ ही उन पर प्रशासन को धमकाने का आरोप लगाया है.

चौहान ने कलेक्‍टर पर दिए गए बयान पर सफाई देते हुए कहा, छिंदवाड़ा में हेलिकॉप्टर उतारने की अनुमति नहीं देने से मुझे कार से जाना पड़ा, जिससे विलंब हुआ और मेरी सभाएं अस्त-व्यस्त हो गईं. जनता से ठीक से संवाद नहीं हो सका. कमलनाथ जी के बेटे छिंदवाड़ा से चुनाव लड़ रहे हैं, इसलिए कांग्रेस मुझे रोकने की साजिश कर रही है. इसकी निंदा करता हूं.

चौहान ने गुरुवार को कहा, उनकी सभाओं को प्रभावित करने के लिए जिलाधिकारी ने उन्हें हेलिकॉप्टर का उपयोग नहीं करने दिया. शाम पांच बजे के बाद हेलिकॉप्टर का उपयोग करने से रोका गया. इस मामले पर भाजपा ने चुनाव आयोग से जिलाधिकारी की शिकायत की है.