नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव के छठे चरण में रविवार को मतदान करने वाले प्रमुख लोगों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, सप्रंग की अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शामिल रहे. पश्चिम बंगाल इस बार भी हिंसक घटनाओं से अछूता नहीं रहा, जहां एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई. 7 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर अपराह्न दो बजे तक करीब 40 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. इस चरण में कुल 10.17 करोड़ मतदाता मतदान के पात्र हैं. उत्तर प्रदेश की 14, हरियाणा की 10, पश्चिम बंगाल, मध्यप्रदेश और बिहार की आठ-आठ, दिल्ली की सात और झारखंड की चार सीटों पर मतदान हो रहा है.

पश्चिम बंगाल में इस बार भी हिंसक घटनाएं हुईं. झारग्राम में एक भाजपा कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई, जबकि पश्चिम मिदनापुर के केशपुर जिले में तृणमूल कांग्रेस के कई समर्थक गोली लगने से घायल हो गए. उत्तर प्रदेश में, जहां भाजपा और सपा-बसपा गठबंधन के बीच कड़ा मुकाबला है, वहीं कांग्रेस तीसरा फैक्टर बन गई है. जौनपुर और सुलतानपुर, दोनों जगह सड़क पर झड़पों की सूचना मिली. सुलतानपुर से केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी भाजपा की उम्मीदवार हैं. इस चरण की 45 सीटों पर पिछले चुनाव में भाजपा ने जीत दर्ज की थी, जिनमें बिहार में सात, हरियाणा में आठ, झारखंड में चार, मध्य प्रदेश में सात, उत्तर प्रदेश में 12 और दिल्ली में सभी सात सीटें शामिल हैं.

बंगाल में फिर हिंसा, भाजपा प्रत्याशी पर बूथ में घुसते वक्त हुआ हमला, TMC पर आरोप

पहले ही गुजरात में मतदान कर चुके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी से मतदान करने का आग्रह किया और कहा कि युवाओं को रिकॉर्ड संख्या में मतदान करना चाहिए. “आखिरकार, उनकी भागीदारी चुनाव को और भी खास बनाती है.” भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने भी ऐसी ही अपील करते हुए कहा कि ‘भारत को फिर से मजबूत सरकार’ की आवश्यकता है. राहुल गांधी वोट डालने मतदान केंद्र तक पैदल गए और उन्होंने जोर देकर कहा कि उनकी पार्टी इस चुनावी लड़ाई को भारी बहुमत से जीत रही है. उन्होंने मोदी पर नफरत फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि इस लड़ाई में “प्यार की जीत होगी.”

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के नेता अरविंद केजरीवाल ने मतदाताओं से ‘नफरत’ को अस्वीकार करने का आग्रह करने के बाद अपनी पत्नी के साथ मतदान किया. सोनिया गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी राष्ट्रीय राजधानी में मतदान किया.

चारों खाने चित हो जाएगा विपक्ष, बुआ और बबुआ में अभी से ही आने लगी दरारें: पीएम मोदी

979 उम्मीदवारों के बीच प्रमुख चेहरों में तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकीं शीला दीक्षित उत्तर पूर्वी दिल्ली से भाजपा की दिल्ली इकाई के प्रमुख मनोज तिवारी के खिलाफ खड़ी हैं. समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ से चुनाव लड़ रहे हैं. भोपाल लोकसभा सीट से मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भाजपा की साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के खिलाफ खड़े हैं. पूर्वी दिल्ली में पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर भाजपा की ओर से आप की आतिशी के खिलाफ चुनावी मैदान में हैं. जबकि ओलंपिक पदक विजेता बॉक्सर विजेंद्र सिंह दक्षिण दिल्ली में आप के राघव चड्ढा और मौजूदा भाजपा सांसद रमेश बिधूड़ी से मुकाबला कर रहे हैं.

उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर से केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी, बिहार के पूर्वी चंपारण से राधामोहन सिंह, दिल्ली के चांदनी चौक से हर्षवर्धन, गुरुग्राम से राव इंद्रजीत सिंह, मध्य प्रदेश के गुना से कांग्रेस महासिचव ज्योतिरादित्य सिंधिया, सोनीपत से हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा चुनाव लड़ रहे हैं. पश्चिम बंगाल के घाटल में बंगाली अभिनेता दीपक अधिकारी ‘देव’ (तृणमूल कांग्रेस) पूर्व आईपीएस अधिकारी व भाजपा उम्मीदवार भारती सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं. सात चरणों में निर्धारित लोकसभा चुनाव 11 अप्रैल को शुरू हुआ था और 19 मई को समाप्त होगा. मतगणना 23 मई को होगी.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com