अमेठीः केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को कहा कि अमेठी पिछले 15 सालों से एक लापता सांसद के बोझ से दबी है, महिलाएं दुखी हैं, क्योंकि विकास उनके घर तक नही पहुंचा है. भाजपा प्रत्याशी ईरानी अमेठी के तिलोई में एक जनसभा को संबोधित कर रही थीं.

स्मृति ने कहा, ‘मैंने अमेठी के गांवों में जाकर पांच साल में देखा है कि यहां लोग आजादी के इतने समय बीत जाने के बाद भी बुनियादी सुविधाओ से वंचित हैं. गांवों तक सड़कें भी नही हैं. किसान परेशान हैं, क्योंकि सिंचाई की सुविधा नहीं है.’ केंद्रीय मंत्री ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि नामदार लोग चाहते हैं कि आप लोग पिछड़े रहें, यहां विकास न हो, गरीबी बनी रहे, युवा बेरोजगार रहे, किसान बदहाली का जीवन बिताए, कि अमेठी के लोग हाथ जोड़कर उनके सामने गिड़गिड़ाते रहें और आवाज न उठाएं.

उन्होंने कहा, ‘नामदार लोगों को यदि पर्चा न भरना हो तो वह अमेठी आएं भी नहीं. साल 2014 में अमेठी ने मुझे हरा दिया था पर मोदी जी ने अमेठी के साथ कोई भेदभाव नहीं किया, जैसे देश के अन्य क्षेत्रों में विकास का काम हुआ…उससे अधिक अमेठी में हुआ, दो लाख परिवारों को शौचालय मिला, एक लाख परिवार को गैस का कनेकशन और तीन लाख किसानों को किसान सम्मान योजना का लाभ दिया गया. एक लाख से अधिक परिवार को आयुषमान भारत योजना से इलाज की सुविधा दी गयी.’’