नई दिल्ली: सोनिया गांधी शनिवार को कांग्रेस नेतृत्व के साथ सरकार गठन की संभावनाओं को लेकर पार्टी की रणनीति तैयार करने के लिए सक्रिय हुईं. सूत्रों ने बताया कि सोनिया गांधी, पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेताओं ने अहमद पटेल, एके एंटनी और अन्य के साथ विचार विमर्श किया. माना जा रहा है कि कांग्रेस के इन सभी नेताओं ने संभावित त्रिशंकु संसद की स्थिति में पार्टी की रणनीति तैयार की.

कांग्रेस सरकार गठन की सभी संभावनाएं तलाश रही है. कांग्रेस ने अगली सरकार बनाने के अपने दावे को लेकर सक्रियता बढ़ा दी है. सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने मतगणना से एक दिन पहले 22 मई को वरिष्ठ पार्टी नेताओं की एक और बैठक बुलाई है. पार्टी के शीर्ष नेताओं ने संप्रग..तीन गठन के एक प्रयास के तहत गैर राजग पार्टियों के साथ सलाह मशविरा किया ताकि इन सभी को एक संयुक्त गठबंधन में साथ लाया जा सके. सोनिया गांधी ने आज अपने आवास पर पार्टी के शीर्ष नेताओं के साथ एक बैठक की. कांग्रेस को उम्मीद है कि राजग के पूर्ण बहुमत हासिल करने में असफल रहने पर वह भाजपा और नरेंद्र मोदी को सत्ता से दूर रख पाएगी.

योगी ने SP-BSP को बताया दंगा कराने वालों का गठबंधन, कहा- इनसे दोस्ती का मतलब ‘आत्महत्या’

राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी सोनिया गांधी और मनमोहन सिंह के अनुभव का इस्तेमाल करेगी. उन्होंने पीटीआई से कहा था कि सोनिया गांधी गैर राजग पार्टियों को अगली सरकार के गठन के लिए साथ लाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी. आज की बैठक महत्व रखती है क्योंकि सोनिया गांधी अभी तक स्वास्थ्य कारणों से राजनीतिक गतिविधि से दूर रही हैं. कांग्रेस एक गठबंधन बनाने के लिए अन्य पार्टियों के साथ सम्पर्क में है ताकि वह अगली सरकार बनाने का नेतृत्व कर सके.

पीएम के ‘जात-पात जपना, जनता का माल अपना’ बयान पर भड़कीं मायावती, कही ये बात

इससे पहले दिन में राहुल गांधी ने तेदेपा नेता एन चंद्रबाबू नायडू के साथ मुलाकात की जबकि पार्टी के अन्य नेता अन्य दलों के साथ बातचीत कर रहे हैं. उन्होंने पटेल, एंटनी और अशोक गहलोत, कमलनाथ और पी चिदंबरम जैसे नेताओं से अन्य दलों के साथ वार्ता करने के लिए कहा है. वे दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं और रणनीति तैयार कर रहे हैं.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com