नई दिल्ली: यूपी की इलाहाबाद (Allahabad Lok Sabha Seat) व फूलपुर लोकसभा सीट (Foolpur Lok Sabha Seat) से सपा-बसपा गठबंधन (SP-BSP Alliance) के प्रत्याशी की घोषणा कर दी गई है. यहां सपा नेता राजेंद्र सिंह पटेल (Rajendra Singh Patel) को टिकट दिया गया है. वहीं, फूलपुर लोकसभा सीट से बीजेपी को हराकर उप चुनाव जीतने वाले नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल का टिकट काटकर यहां से पंधारी यादव (Pandhari Yadav) को मौका दिया गया है. पंधारी अखिलेश के करीबी माने जाते हैं. बसपा से गठबंधन के तहत ये दोनों सीटें सपा के खाते में गई हैं.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) लगभग सभी सीटों पर प्रत्याशी का एलान कर चुके हैं. कुछ ही सीटें बची हैं, जिसके लिए प्रत्याशी का एलान होने वाला है. यूपी में सपा के खाते में 37, जबकि बसपा के खाते में 38 सीटें गई हैं. तीन सीटें आरएलडी को मिली हैं. जबकि दो सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ी गई थीं.

गंगा-जमुनी तहजीब के लिए पहचाने जाने वाले भोपाल में क्या ‘हिंदुत्व’ बन रहा है मुद्दा?

इलाहाबाद के अलावा फूलपुर लोकसभा सीट चर्चा में रही है. बीजेपी के केशव प्रसाद मौर्या द्वारा सीट छोड़ देने के बाद यहां उप चुनाव हुआ था. इस सीट के लिए सपा-बसपा ने गठबंधन किया था, और गठबंधन के प्रत्याशी नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल को जीत मिली थी, लेकिन इस बार उनका टिकट कट गया है. उन्होंने यहां से बीजेपी के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 59460 वोटों के अंतर से हराया था, बीजेपी के हाथों से ये सीट चली गई थी. इस सीट पर प्रत्याशी बनाए गए पंधारी यादव को अखिलेश यादव का करीबी माना जाता है.