चंडीगढ़. अभिनेता एवं भाजपा प्रत्याशी सनी देओल ने गुरदासपुर लोकसभा सीट से सोमवार को अपना नामांकन दाखिल किया. हाल ही में भाजपा में शामिल हुए सनी देओल ने अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकने के बाद गुरदासपुर में नामांकन दाखिल किया. उनके भाई एवं अभिनेता बॉबी देओल इस दौरान उनके साथ मौजूद थे. इसके अलावा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं राज्यसभा सदस्य श्वेत मलिक, हरियाणा के वित्त मंत्री एवं पंजाब में पार्टी के चुनाव प्रभारी कैप्टन अभिमन्यु और अकाली नेता गुरबचन सिंह बाबेहली भी इस दौरान उपस्थित रहे.

लोकसभा चुनावः चौथे चरण की इन 14 VIP सीटों पर डाले जा रहे हैं वोट

सनी देओल ने नामांकन के बाद गुरदासपुर के पुडा ग्राउंड में एक रैली को संबोधित करेंगे. इस रैली में भाजपा और शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ नेता उपस्थित रहेंगे. अभिनेता धर्मेंद्र ने ट्वीट कर लोगों से अपने बेटे सनी देओल की जीत के लिए समर्थन मांगा. धर्मेंद्र ने ट्वीट किया, “हमें आपका साथ चाहिए…हमें समर्थन दें… यह आपकी जीत होगी. यह (जीत) मेरे पंजाब के भाई-बहनों की जीत होगी. यह भारत के खूबसूरत हिस्से गुरदासपुर की जीत होगी.” देओल ने नामांकन दाखिल करने से पहले स्वर्ण मंदिर में मत्था टेका.

पीली पगड़ी एवं नीली कमीज पहने 62 वर्षीय देओल ने स्वर्ण मंदिर के गर्भगृह में अरदास की. साथ ही उन्होंने दुर्गियाना मंदिर में भी पूजा-अर्चना की. भाजपा ने जाट सिख सनी देओल को गुरदासपुर लोकसभा सीट से चुनाव मैदान में उतारा है. देओल का मुकाबला मौजूदा सांसद एवं कांग्रेस प्रत्याशी सुनील जाखड़, आम आदमी पार्टी (आप) के उम्मीदवार पीटर मसीह और पंजाब डेमोक्रेटिक एलायंस (पीडीए) के लालचंद से है. रैली के बाद वह अपना मत डालने के लिए मुंबई रवाना होंगे.

पश्चिम बंगाल के आसनसोल में वोटिंग के दौरान हिंसा, बाबुल सुप्रीयो की गाड़ी पर पथराव

वर्तमान में गुरदासपुर लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व कांग्रेस के सांसद सुनील जाखड़ कर रहे हैं, जिन्होंने 2017 के उपचुनाव में यहां से जीत हासिल की थी. पिछले साल अप्रैल में विनोद खन्ना के निधन के बाद यह उपचुनाव हुआ था. दिवंगत अभिनेता विनोद खन्ना ने इस सीट का चार बार – 1998, 1999, 2004 और 2014 में प्रतिनिधित्व किया. जाखड़ ने भाजपा प्रत्याशी स्वर्ण सलारिया को 1,93, 219 मतों के भारी अंतर से हराया था.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com