पटना. बिहार में भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में सीट बंटवारे पर असंतोष अब मारपीट के रूप में प्रकट हो रहा है. पटना हवाईअड्डे पर मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई, बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के बाद झगड़ा शांत हुआ. केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद पटना हवाईअड्डा पहुंचे ही थे कि भाजपा के राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा के समर्थक भी वहां पहुंच गए और उनका विरोध शुरू कर दिया. सिन्हा के समर्थक जब रविशंकर के विरोध में नारा लगाने लगे. इस दौरान समर्थकों ने केंद्रीय मंत्री को काले झंडे भी दिखाए. सिन्हा के समर्थकों की इस हरकत पर प्रसाद का स्वागत करने पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता उबल पड़े. इसके बाद दोनों नेताओं के समर्थकों में जमकर मारपीट हुई. इस दौरान पटना हवाईअड्डे के बाहर अफरा-तफरी मच गई. पुलिस के हस्तक्षेप के बाद झगड़ा सुलझाया गया. बाद में रविशंकर प्रसाद पार्टी कार्यालय के लिए रवाना हो गए.

गुजरात में चौंकाने के मूड में कांग्रेस, इन 7 सीटों पर आसान नहीं होगी भाजपा की राह

दरअसल, भाजपा के मौजूदा सांसद और आडवाणी खेमे के नेता शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट काटकर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को पटना साहिब से प्रत्याशी बनाया गया है. कहा जा रहा है कि आरके सिन्हा भी पटना साहिब से टिकट के दावेदार थे. सिन्हा को पटना साहिब का टिकट नहीं मिलने से उनके समर्थक नाराज हैं और वे रविशंकर प्रसाद का विरोध कर रहे हैं. इस घटना पर रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से कुछ नहीं कहा और पार्टी कार्यालय के लिए रवाना हो गए. हमारी सहयोगी वेबसाइट डीएनए के अनुसार, पटना एयरपोर्ट पर आरके सिन्हा के समर्थकों ने ‘रविशंकर प्रसाद गो बैक, गो बैक’, ‘रविशंकर प्रसाद हाय-हाय’ के नारे लगाए. वे इस नारे के साथ-साथ ‘आरके सिन्हा जिंदाबाद’ का नारा भी लगा रहे थे. सिन्हा समर्थकों की इसी हरकत पर प्रसाद का स्वागत करने पहुंचे कार्यकर्ता भी उबल पड़े और एक ही पार्टी के समर्थकों के बीच मारपीट की नौबत आ पहुंची.

भाजपा की रणनीति- विदेशी ‘मेहमान’ भी संभालेंगे प्रचार का काम, कांग्रेस लड़ेगी जमीनी लड़ाई

भाजपा के प्रवक्ता निखिल आनंद ने इस घटना पर सफाई देते हुए कहा, “भाजपा एक राष्ट्रवादी राजनीतिक संगठन है, जिसकी विचारधारा व संगठन की मजबूत बुनियाद है. भाजपा के उत्साहित नेता, कार्यकर्ता पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के नए उम्मीदवार रविशंकर प्रसाद के स्वागत में जुटे थे, जहां कुछ अवांछित लोग हंगामा करने लगे.” उन्होंने दावा किया कि धक्का-मुक्की करने वालों का भाजपा संगठन से कोई लेना-देना नहीं है. इस घटना की निंदा करते हुए उन्होंने कहा, “भीड़ में शामिल होकर ऐसी हरकत करने वाले असामाजिक तत्वों से हमारी पार्टी के कार्यकर्ता सचेत व सावधान हैं.” हालांकि पार्टी प्रवक्ता के बयान से उलट, आरके सिन्हा के समर्थकों के प्रदर्शन के दौरान केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद एयरपोर्ट पर बेबस खड़े नजर आए. हमारी सहयोगी वेबसाइट डीएनए में छपी खबर के अनुसार प्रसाद ने मीडियाकर्मियों के साथ बातचीत में कहा कि पार्टी ने उन पर विश्वास किया है. वे इस भरोसे को कायम रखने का प्रयास करेंगे.

फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट से राज बब्बर को चुनौती देगा ये ‘योद्धा’, लड़ चुका है 80 से ज्यादा चुनाव

आनंद ने कहा कि रविशंकर प्रसाद रिकॉर्ड मतों से विजयी होंगे और शत्रुघ्न सिन्हा राजनीतिक तौर पर खामोश हो जाएंगे. शत्रुघ्न सिन्हा ने हालांकि हाल ही में कहा था, “मैं चुनाव लड़ूंगा. लोकेशन वही होगा, सिचुएशन कुछ भी हो सकता है.” आपको बता दें कि पटना साहिब सीट से लोकसभा के सांसद रहे शत्रुघ्न सिन्हा के औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल होने की चर्चा अब आम हो गई है. अगले एक-दो दिनों में शत्रुघ्न सिन्हा के औपचारिक रूप से कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का एलान किया जा सकता है.

(इनपुट – एजेंसी)

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com