मुंबई: महाराष्ट्र बीजेपी ने बुधवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे के उस दावे को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि सत्तारूढ़ पार्टी में शामिल होने के लिए उन्हें एक प्रस्ताव मिला था. भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े ने मीडियाकर्मियों कहा, हमने उन्हें कोई प्रस्ताव नहीं दिया है. यह केवल यह दिखाता है कि वह भाजपा में शामिल होने के लिए कितना उत्सुक हैं. उन्हें इस बात का आभास हो गया होगा कि सोलापुर से उनके जीतने की संभावना बहुत कम है. ऐसे में उन्होंने इस तरह का दावा किया. बता दें कि संयोग से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिंदे के बीच कई वर्षो से मधुर संबंध रहे हैं.

कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने बताया कैसे लागू की जा सकती है मिनिमम इनकम गारंटी स्‍कीम

कॉन्‍स्‍टेबल से शुरू हुआ था कॅरियर, मोदी से रहे अच्‍छे रिश्‍ते
जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, शिंदे से उनका और अन्य मुख्यमंत्रियों के साथ केंद्रीय गृह मंत्री, ऊर्जा मंत्री, लोकसभा में कांग्रेस नेता के नाते संवाद होता रहता था. महाराष्ट्र के पुलिस कॉन्‍स्‍टेबल और बाद में सीआईडी में अपने कॅरियर की शुरुआत करने वाले शिंदे 1960 के दशक में राजनीति में शामिल हुए और राज्य व केंद्र में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं.

सोलापुर से लोकसभा चुनाव हार गए थे शिंदे
पूर्व में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री रहे शिंदे 2014 में बीजेवी के शरद बनसोडे से सोलापुर से लोकसभा चुनाव हार गए थे. इस बार शिंदे का मुकाबला बीजेपी के प्रत्याशी जयसिद्धेश्वर स्वामी और भारिप बहुजन महासंघ के प्रकाश आंबेडकर से है. मुंबई उत्तर-पूर्व लोकसभा सीट से बीजेपी के प्रत्याशी की घोषणा नहीं करने पर तावड़े ने कहा कि नाम तय करने के लिए पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व को नामों की एक सूची सौंपी गई है.

एक दिन पहले शिंदे ने किया था ऑफर मिलने का दावा
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे ने मंगलवार को कहा कि उन्हें हाल ही में भाजपा में शामिल होने के लिए ऑफर दिया गया। उन्होंने कहा कि पहले उनकी बेटी मौजूदा विधायक प्रणीति शिंदे को पार्टी में शामिल होने की पेशकश की गई, बाद में उन्हें पार्टी में शामिल होने का ऑफर दिया गया.

कांग्रेस छोड़ने का कोई सवाल नहीं उठता
शिंदे ने मीडिया से कहा, “हालांकि, कांग्रेस छोड़ने का कोई सवाल नहीं उठता है. हम उनके प्रलोभन में नहीं फंसेंगे. हम दोनों प्रतिबद्ध कांग्रेस कार्यकर्ता हैं और अंतिम सांस तक पार्टी से जुड़े रहेंगे.”

मेरे ही कद के एक व्यक्ति ने पेशकश की थी
यह पूछे जाने पर कि किसने आपको यह पेशकश की थी? पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “मेरे ही कद के एक व्यक्ति ने पेशकश की थी” शिंदे ने यह खुलासा सोलापुर संसदीय क्षेत्र से अपना नामांकन दाखिल करने के एक दिन बाद किया था.