नई दिल्ली: चेन्नई के स्टेला मेरिस कॉलेज में स्टूडेंट्स से मुलाकात के दौरान राहुल गांधी ने कई मुद्दों पर बात की. उन्होंने छात्राओं के सवालों का जवाब भी दिया. इंटरैक्शन के दौरान एक छात्रा राहुल गांधी से सवाल करने के लिए खड़ी हुई. उसने राहुल को सर कह कर संबोधित किया. राहुल गांधी ने बीच में छात्रा को रोकते हुए कहा कि आप मुझे सर कहने की बजाय सिर्फ राहुल के नाम से संबोधित कर सकती हैं. राहुल के इतना कहते ही छात्राओं की ओर से हूटिंग शुरू हो गई. सवाल पूछने वाली लड़की नर्वस हो गई और उसने मुस्कुराते हुए अपनी जीभ बाहर निकाल दी. कुछ सेकेंड तक हूटिंग होती रही. छात्रा ने कहा कि वह नर्वस फील कर रही है. इसके बाद लड़की ने कहा, हाय राहुल और हंसने लगी. एक बार फिर हॉल हूटिंग से गूंजने लगा. राहुल गांधी भी मुस्कुराने लगे. अजरा ने सवाल पूछने के दौरान एक बार फिर राहुल को नाम से संबोधित किया.

छात्रा ने राहुल गांधी से पूछा कि हाल ही में देश के एक सबसे बड़े रिसर्च संस्थान को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा. उसके कर्मचारियों को फरवरी की सैलरी नहीं मिली.हालांकि बाद में ये मामला सुलझ गया. कर्मचारियों के अकाउंट में सैलरी आ गई, लेकिन एक बड़े परिपेक्ष में देखें तो आपकी सरकार आने पर आप शिक्षा और रिसर्च के लिए क्या करेंगे. राहुल गांधी ने माना की वे इस बात से इत्तेफाक रखते हैं कि भारत में शिक्षा पर जितना खर्च हो रहा है वह कम है. अगर कांग्रेस की सरकार बनी तो शिक्षा के बजट को जीडीपी का 6 प्रतिशत किया जाएगा.

इसी कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि आप देश में नकारात्मक माहौल के बीच आर्थिक वृद्धि की उम्मीद नहीं कर सकते जो प्रत्यक्ष तौर पर देश के मिजाज से जुड़ी हुई है. अपने जीजा रॉबर्ट वाड्रा पर पूछे गए सवाल के जवाब में गांधी ने कहा कि कानून हर किसी पर लागू होना चाहिए न कि चुनिंदा लोगों पर. छात्रों के साथ अनौपचारिक बातचीत में उन्होंने राफेल सौदे का मुद्दा भी उठाया और विमान की कीमतों एवं खरीद प्रक्रिया को लेकर अपने आरोप दोहराए. गांधी ने कहा, मैं यह कहने वाला पहला शख्स हूंगा कि रॉबर्ट वाड्रा की जांच करें लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भी करें.