वाराणसीः काशी में लोकसभा चुनाव रोचक हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस निर्वाचन क्षेत्र में समाजवादी पार्टी (सपा) ने अपना उम्मीदवार बदल दिया है. पार्टी ने बीएसएफ के पूर्व जवान तेज बहादुर यादव को अपना उम्मीदवार बनाया है. तेज बहादुर वही जवान हैं जिन्होंने बीएसएफ में खाने की खराब गुणवत्ता का एक वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया था. इस वीडियो के वायरल होने के बाद बीएसएफ ने उन्हें कथित तौर पर सेवा से बर्खास्त कर दिया था. इससे पहले सपा ने वाराणसी से शालिनी यादव को अपना उम्मीदवार बनाया था. शालिनी ने नामांकन भी भर दिया था. तेज बहादुर ने इस साल मार्च में घोषणा कर दी थी कि वह पीएम मोदी के खिलाफ वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा था कि वह पीएम मोदी के खिलाफ भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाकर चुनाव लड़ना चाहते है.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वाराणसी से नामांकन भरा था. उनके नामांकन में एनडीए के तमाम नेता शामिल हुए थे. प्रधानमंत्री के खिलाफ तेज बहादुर के चुनाव मैदान में उतरने से यहां की लड़ाई रोचक हो गई है. इस प्रतिष्ठित सीट से कांग्रेस पार्टी ने अजय राय को अपना उम्मीदवार बनाया है. वाराणसी में लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण यानी 19 मई को मतदान होगा.