नई दिल्ली: लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की फैमिली में भले ही ‘सब कुछ ठीक है’ कहा जाता रहा है, लेकिन तेज प्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) अपने तेवर में हैं. बिहार के जहानाबाद में अपने मोर्चे के प्रत्याशी के समर्थन में रैली करते हुए तेजप्रताप यादव ने खुद को बिहार का दूसरा लालू यादव बता दिया है. तेजप्रताप ने कहा कि ‘मैं बिहार का दूसरा लालू प्रसाद यादव हूं. वह (लालू) मेरे गुरु हैं. उनका खून मेरी रगों में है.’

यही नहीं, इन दिनों जेल में बंद लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने रैली के दौरान के दौरान अप्रत्यक्ष रूप से छोटे भाई और इस समय आरजेडी के सबसे अहम नेताओं में शामिल तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) पर भी हमला बोला. तेज प्रताप ने कहा कि लालू यादव बेहद ऊर्जावान थे, वह एक दिन में 12 से 14 रैलियां कर लेते थे, लेकिन आज के नेता 4-5 रैली करने पर ही थक जाते हैं. बता दें कि खराब स्वास्थ्य के चलते तेजस्वी यादव कई जनसभाओं को कैंसिल कर चुके हैं.

तेजप्रताप यादव ने बिना किसी का नाम लिए लालू यादव के जेल जाने के बाद आरजेडी संभाल रहे नेताओं को चाटुकार और तलवे चाटने वाला बताया. ये पहला मौका नहीं है जब तेजस्वी के बड़े भाई तेजप्रताप यादव ने ऐसा हमला बोला है. ऐसे कई बयान हैं, जिसमें वह नाराजगी व्यक्त कर चुके हैं. घरेलू कलह खुलकर सामने भी आ चुकी है, लेकिन तेजस्वी और राबड़ी देवी किसी न किसी तरह से सब कुछ ठीक है दिखाने का प्रयास करते आ रहे हैं. तेज प्रताप भी परिवार के साथ की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हैं, जिससे लगता है सब कुछ ठीक है. वहीं, फिर वह किसी सभा में अप्रत्यक्ष रूप से हमला बोल देते हैं.