बेंगलुरू: बीजेपी ने दिवंगत केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार की पत्नी तेजस्विनी को मंगलवार को पार्टी की कर्नाटक इकाई का उपाध्यक्ष नियुक्त किया. इससे पहले उन्हें बेंगलूरू दक्षिण लोकसभा सीट से टिकट नहीं मिला था. इस सीट का प्रतिनिधित्व अनंत कुमार कर रहे थे. भाजपा ने तेजस्विनी की जगह युवा नेता तेजस्वी सूर्या को टिकट दिया था, जिससे तेजस्विनी के समर्थक नाराज थे. बता दें कि नेता अनंत कुमार का पिछले साल कैंसर से निधन हो गया था. बेंगलुरू दक्षिणी सीट से उन्होंने 2014 के चुनाव में नंदन निलेकणी को हराया था. अनंत कुमार की पत्नी तेजस्विनी एयरोस्पेस इंजीनियर हैं और एक एनजीओ अदम्य चेतना चलाती हैं.

कांग्रेस के घोषणा पत्र पर भाजपा का तीखा प्रहार, ‘ऐसे खतरनाक वादे करने वाले एक भी वोट पाने के हकदार नहीं’

कर्नाटक भाजपा प्रमुख बी एस येदियुरप्पा ने ट्वीट किया, “मुझे यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि तेजस्विनी अनंत कुमार को कर्नाटक भाजपा का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया है.”

कांग्रेस घोषणापत्र में काम, दाम, शान, सुशासन, स्वाभिमान पर जोर, 10 प्वाइंट्स में जानिए प्रमुख बातें

बीते 26 मार्च को भाजपा ने बेंगलुरू दक्षिण लोकसभा क्षेत्र से युवा मोर्चा के नेता तेजस्वी सूर्या को उम्मीदवार बनाने की घोषणा की थी. इस महत्वपूर्ण सीट से छह बार सांसद रहे दिवंगत केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार की पत्नी को टिकट नहीं दिया गया था. भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने 28 वर्षीय तेजस्वी सूर्या को मैदान में उतारा है. सूर्या वकील और पार्टी के नेशनल सोशल मीडिया अभियान दल का हिस्सा हैं. वह भारतीय जनता युवा मोर्चा के महासचिव भी हैं. ऐसी संभावना थी कि भाजपा इस सीट से अनंत कुमार की पत्नी तेजस्विनी को उतारेगी, लेकिन पार्टी ने सूर्या को उतारने का फैसला किया.

भारतीय सेना ने मार गिराए पड़ोसी देश के कई सैनिक, पाकिस्‍तान ने माना तीन जवान मारे गए

बता दें कि भाजपा की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष बी एस येदियुरप्पा के मुताबिक, कर्नाटक भाजपा ने केवल तेजस्विनी के नाम का प्रस्ताव दिया था. तेजस्विनी भी टिकट मिलने को लेकर आश्वस्त थीं और इसके लिए तैयारी भी कर रही थीं. उन्होंने प्रचार अभियान भी शुरू कर दिया था. घोषणा पर प्रतिक्रिया जताते हुए सूर्या ने ट्वीट किया, ”हे भगवान..विश्वास नहीं हो रहा. दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री और सबसे बड़े राजनीतिक दल के अध्यक्ष ने बेंगलुरू दक्षिण जैसी प्रतिष्ठित सीट पर 28 वर्षीय लड़के के प्रति भरोसा जताया है. यह भाजपा में ही हो सकता है. तेजस्विनीजी ने अपना आशीर्वाद दिया है.”

राज्यपाल कल्याण सिंह ने पीएम के समर्थन में बयान देकर आचार संहिता का उल्लंघन किया: EC