पटना: बिहार के सबसे बड़े सियासी परिवार व राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद के परिवार में दोनों भाइयों तेजस्वी प्रसाद और तेजप्रताप यादव में एकबार फिर मनमुटाव देखने को मिल रहा है. तेजप्रताप ने शुक्रवार को उपेक्षित होने का आरोप लगाते हुए कहा कि पिता जी (लालू प्रसाद) की अनुपस्थिति के कारण उन्हें बोलने नहीं दिया गया. लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजप्रताप ने ट्वीट के जरिए भावुक अंदाज में लिखा, ‘मेरे आदरणीय पिता की अनुपस्थिति की वजह से मुझे आज बोलने नहीं दिया गया.’ उन्होंने आगे लिखा, ‘आई मिस यू पापा.’

गोडसे को देशभक्त बताने पर पीएम मोदी बोले- साध्वी प्रज्ञा को कभी मन से माफ नहीं करूंगा

यह कोई पहला मामला नहीं है, जब तेजप्रताप का दर्द छलका है. इससे पहले लोकसभा चुनाव के टिकट बंटवारे को लेकर भी उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा था कि उन्होंने तो कुछ सीटों की मांग की थी, परंतु वह भी नहीं दी गई. उल्लेखनीय है कि गुरुवार को पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र के विक्रम में लालू प्रसाद की पुत्री और राजद प्रत्याशी मीसा भारती के पक्ष में एक चुनावी सभा को संबोधित करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहुंचे थे. इस सभा में तेजस्वी को बोलने का मौका मिला, परंतु तेजप्रताप को बोलने का मौका नहीं दिया गया.

‘रुद्र अवतार’ तेजप्रताप के पोस्ट पर जदयू ने कसा तंज, पूछा- का भतीजा सब ठीक है न?

बाद में तेजप्रताप ने नाराजगी जताते हुए कहा था, ‘राहुल गांधी ने खुद कहा था कि उन्हें भी भाषण देना है. मैंने अपनी इच्छा से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा को भी अवगत कराया, लेकिन मौका नहीं दिया गया.’ तेजप्रताप ने इसके लिए एक नेता को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि कहा, “ऐसे लोगों के कारण ही कांग्रेस का ये हाल है. ये लोग जानते हैं कि दूसरा लालू पैदा हो रहा है, इससे परेशान हैं.’

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com