नई दिल्लीः लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में 64 फीसदी से अधिक मतदान हुआ. यह जानकारी चुनाव आयोग ने दी. तीसरे चरण में 117 लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ जिनमें गुजरात और केरल की सभी सीटें शामिल हैं. तीसरे चरण में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी और कई प्रमुख उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. चुनाव आयोग ने बताया कि लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में 64.66 प्रतिशत मतदान हुआ. पहले दो चरणों में 11 और 18 अप्रैल को क्रमश: 91 और 95 लोकसभा सीटों पर मतदान हुआ था. 11 अप्रैल को पहले चरण में 69.5 प्रतिशत और 18 अप्रैल को दूसरे चरण में 69.44 प्रतिशत मतदान हुआ था. Also Read - नोटिस मिलने पर NCP चीफ शरद पवार बोले- आईटी विभाग कुछ लोगों से प्यार करता है

उल्लेखनीय है कि अब तक के तीन चरणों के दौरान इस चरण में सर्वाधिक 117 सीटों पर मतदान हुआ. पहले चरण में 91 और दूसरे चरण में 95 सीटों पर मतदान हुआ था. उप चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा ने बताया कि अब तक तीनों चरणों में लोकसभा की 303 सीटों पर हुए मतदान में 69.81 प्रतिशत मतदाताओं ने हिस्सा लिया. Also Read - गर्लफ्रेंड के साथ समय बिताने के लिए कोरोना पॉजिटिव बता 'लापता' हो गया शख्स, पत्नी को हुआ शक और फिर...

सिन्हा ने बताया कि मतदान के शाम छह बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक तीसरे चरण में गुजरात की सभी 26 सीटों पर एक बजे तक 58.95 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. पिछले चुनाव में राज्य की इन सीटों पर 63.34 प्रतिशत मतदान हुआ था. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, वित्त मंत्री अरुण जेटली और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी मतदान में हिस्सा लिया. शाह गांधीनगर सीट से भाजपा उम्मीदवार हैं. Also Read - दिल्ली को दहलाने की साजिश नाकाम, NIA ने पश्चिम बंगाल और केरल से अल-कायदा के 9 आतंकियों को किया गिरफ्तार

यूपी की 10 सीटों पर वोटिंग
इसके अलावा उत्तर प्रदेश की दस लोकसभा सीटों पर शाम छह बजे तक 56.57 प्रतिशत मतदान हुआ. इस अवधि में सर्वाधिक पीलीभीत सीट पर 61.74 प्रतिशत और मैनपुरी में सबसे कम 53.37 प्रतिशत मतदान हुआ. पीलीभीत से भाजपा के वरुण गांधी और मैनपुरी से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव सपा के उम्मीदवार हैं. तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश की सभी सीटों पर 2014 के लोकसभा चुनाव की तुलना में 0.45 से छह प्रतिशत तक की कमी आई है. उत्तर प्रदेश की 80 में से अब तक तीन चरण में हुये 26 सीटों पर मतदान का प्रतिशत 60.7 रहा है.

इस चरण में पश्चिम बंगाल की पांच सीटों पर सर्वाधिक 78.98 प्रतिशत मतदान हुआ. यह तीसरे चरण के मतदान में शामिल 15 राज्यों में सर्वाधिक मत प्रतिशत है. पश्चिम बंगाल में तीन चरणों में कुल दस सीटों पर 81.5 प्रतिशत मतदान हुआ है.

वहीं जम्मू कश्मीर की अनंतनाग सीट के छह विधानसभा क्षेत्रों में 12.86 प्रतिशत मतदान हुआ. सिन्हा ने बताया कि जम्मू कश्मीर में मतदान के दौरान हिंसा या अन्य काई शिकायत नहीं मिली है.

बिहार की पांच सीटों पर वोटिंग
इस चरण में बिहार की पांच सीटों पर शाम छह बजे तक 59.95 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ की सात सीटों पर 64.68 प्रतिशत, असम की चार सीटों पर 70.05 प्रतिशत, कर्नाटक की 14 सीटों पर 60.97 प्रतिशत, केरल की सभी 20 सीटों पर 69.02 प्रतिशत और त्रिपुरा की एक सीट पर 71.45 प्रतिशत मतदान हुआ. पूर्वी त्रिपुरा सीट पर 18 अप्रैल को प्रस्तावित मतदान तीसरे चरण के लिये स्थगित कर दिया गया था.

इसके अलावा महाराष्ट्र की 14 सीटों पर शाम छह बजे तक 55.65 प्रतिशत और गोवा की सभी दो सीटों पर 70.97 प्रतिशत मददान हुआ. तीसरे चरण में ओडिशा की छह सीटों पर 57.86 प्रतिशत मतदान हुआ. यह पिछले दो चरणों में हुये मतदान की तुलना में न्यूनतम है. पहले चरण में राज्य की चार सीटों पर 73.82 प्रतिशत और दूसरे चरण में पांच सीटों पर 72.56 प्रतिशत मतदान हुआ था.

सिन्हा ने बताया कि तीसरे चरण में मतदान सामान्य रूप से शांतिपूर्ण रहा. केरल में 11 मतदाताओं की विभिन्न कारणों से मौत होने की सूचना मिली है. उन्होंने बताया कि मौत के यह मामले मतदाताओं के मतदान के लिये आने के दौरान या मतदान कर वापस जाने के दौरान अचानक बीमार होने जैसी वजहों से सामने आये हैं.

उन्होंने बताया कि पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद संसदीय क्षेत्र में एक मतदाता की हत्या और एक मतदान कर्मी की बीमारी के कारण मौत का मामला सामने आया है. सिन्हा ने स्पष्ट किया कि मृतक मतदानकर्मी ड्यूटी पर नहीं था. वहीं असम के एक मतदान केन्द्र पर मतदान के बहिष्कार की काशिश किये जाने की सूचना मिली है. इसके अलावा केरल में एक मतदान केन्द्र पर ईवीएम के बटन में गड़बड़ी की सूचना मिलने पर मशीन को परीक्षण के बाद बदल दिया गया.