नई दिल्ली: भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने सोमवार को कहा कि मौजूदा लोकसभा चुनाव मील का पत्थर साबित होगा क्योंकि इससे देश में गठबंधन की राजनीति समाप्त हो जाएगी. हर्षवर्धन फिर से दिल्ली की चांदनी चौक लोकसभा सीट से मैदान में हैं और उनका दावा है कि यहां उनके लिए कोई मुकाबला नहीं है.

केंद्रीय मंत्री ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘लोकसभा चुनाव के बाद गठबंधन की राजनीति समाप्त हो जाएगी क्योंकि लोग अधिक जागरूक हो रहे हैं. यह चुनाव इस तरह की राजनीति के लिए मील का पत्थर साबित होगा.’’ कारोबारी बहुल चांदनी चौक क्षेत्र में हर्षवर्धन का मुकाबला कांग्रेस के जे पी अग्रवाल और आप के पंकज गुप्ता से है. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पत्रकारों को कम से कम 21 बार जवाब दिया है कि मेरा निकटतम प्रतिद्वंद्वी कौन है…मैं कह सकता हूं, मेरे लिए कोई लड़ाई नहीं है. आप और कांग्रेस के बीच दूसरे स्थान के लिए लड़ाई है.’’

राहुल में हिम्मत है तो राजीव गांधी के नाम पर लड़ें आगे का चुनाव: पीएम नरेंद्र मोदी

हर्षवर्धन ने कहा कि एक सांसद के तौर पर उन्होंने अल्पसंख्यकों सहित सभी समुदायों के लिए ईमानदारी से काम किया और उनसे समर्थन की अपेक्षा की. उन्होंने कहा, ‘‘मुझे मुसलमानों के बीच चुनाव प्रचार में कोई समस्या नहीं है. मुझे उनसे बहुत स्नेह मिल रहा है. वास्तव में, 2014 के लोकसभा चुनाव में मुझे चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र के मुस्लिम बहुल दो विधानसभा क्षेत्रों में अधिक वोट मिले थे.’’ उन्होंने कहा कि लोगों में, खासकर गरीबों में, मोदी को फिर से देश के अगले प्रधानमंत्री के रूप में देखने की तीव्र इच्छा है. हर्षवर्धन ने दिल्ली सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना लागू नहीं किए जाने और दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे जैसे मुद्दों को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आलोचना की.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com