मुंबई: मुंबई उत्तर से कांग्रेस की उम्मीदवार उर्मिला मातोंडकर ने अपने चुनाव प्रचार अभियान के दौरान कांग्रेस और बीजेपी समर्थकों के बीच हाथापाई के बाद सोमवार को पुलिस से सुरक्षा मांगी. पुलिस ने बताया कि बोरीवली स्टेशन के पास हाथापाई हुई जहां मातोंडकर प्रचार कर रही थीं. उन्होंने कहा कि वह सत्तारूढ़ पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा आदर्श आचार संहिता के घोर उल्लंघन से हैरान हैं और उन्होंने भाजपा पर डर पैदा करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, यह महज शुरुआत है और यह हिंसक रूप ले सकता है. मैंने पुलिस सुरक्षा के लिए कहा है, क्योंकि इससे मेरी जान को खतरा है. मैंने पुलिस शिकायत दर्ज कराई है.

रवि किशन होंगे गोरखपुर के BJP प्रत्याशी, MLA को जूतों से मारने वाले सांसद शरद त्रिपाठी का टिकट कटा

मौके पर मौजूद एक चश्मदीद ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने बोरीवली रेलवे स्टेशन के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं को देखते ही मोदी-मोदी के नारे लगाने शुरू कर दिए थे. इस सीट से भाजपा ने अपने मौजूदा सांसद गोपाल शेट्टी को ही मैदान में उतारा है. मातोंडकर ने पत्रकारों को बताया कि भाजपा के कुछ कार्यकर्ता उनकी रैली में घुस गए थे, जिसके बाद उन्होंने अपनी सुरक्षा के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

जम्मू कश्मीर: पत्‍थरबाजों ने पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती के काफिले पर किया पथराव

मातोंडकर ने कहा कि जो लोग रैली में घुसे थे वे आम लोग नहीं थे, बल्कि भाजपा के थे. उन्होंने कहा कि आम लोग हिंसक तरीके से पेश नहीं आएंगे जैसे कि ये लोग पेश आए. उन्होंने कहा, जो हमारी रैली में घुसे वे अश्लील तरीके से नाच रहे थे और उन्होंने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया. शायद वे हमारे पास चल रही महिलाओं को डराना चाहते थे.

चुनाव आयोग की बड़ी कार्रवाई: योगी आदित्यनाथ 72 घंटे और मायावती 48 घंटे तक नहीं कर पाएंगे प्रचार

मातोंडकर ने कहा कि वह इस मुद्दे पर निर्वाचन आयोग के पास जाने पर विचार कर रही हैं. मातोंडकर ने ट्वीट कर कहा, ”भाजपा कार्यकर्ताओं की द्वेषपूर्ण हरकतों और आदर्श आचार संहिता के घोर उल्लंघन से हैरान हूं. मु्झे अपनी सुरक्षा और मेरी महिला समर्थकों की गरिमा की रक्षा के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज करानी पड़ी.
मुंबई में आम चुनाव के चौथे चरण में 29 अप्रैल को मतदान होना है. मातोंडकर (45) पिछले महीने कांग्रेस में शामिल हुई. उन्होंने कहा कि वह लंबे समय तक पार्टी में रहेगी और वह नफरत की राजनीति के खिलाफ लड़ना चाहती हैं.