भोपाल: मध्‍य प्रदेश के तीन बार मुख्‍यमंत्री रहे शिवराज सिंह चौहान ऐसे नेता हैं, जिनकी आमतौर पर विनम्रता से बात करने वाले राजनेता की छवि रही है. लेकिन लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए जा रहे शिवराज सिंह चौहान को बुधवार को काफी गुस्‍से में देखा गया. उनका ये अंदाज आम छवि के बिल्कुल अलग था.

दअरसल, छिंदवाड़ा में हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन न मिलने से पूर्व सीएम शिवराज चौहान कलेक्‍टर पर नाराज हो गए. उन्‍हें विधानसभा की एक सीट पर हो रहे उप चुनाव में खड़े उम्‍मीदवार नत्‍थन शाह के प्रचार के लिए गुंडमंडी से उमरेठ जाना था. जब कलेक्‍टर ने शाम 5 बजे के बाद हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन देने से मना कर दिया तो चौहान काफी गुस्‍से में आए गए और जब वे जब जनसभा को संबोधित करने पहुंचे तो अपनी नाराजगी दिखा बैठे.

पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, बंगाल में ममता दीदी, वो नहीं उतरने दे रहीं थीं. ममता दीदी के बाद कमलनाथ दादा.. ये पिट्ठू कलेक्‍टर सुन ले रे, हमारे दिन भी जल्‍दी आएंगे, तब तेरा क्‍या होगा?

पूर्व मुख्‍यमंत्री ने कहा, ये लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है, अधिकारियों को ईमानदारी से काम करना चाहिए, सरकारें तो बदलती रहती हैं. चौरई में शिवराज सिंह ने सीएम कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा ”अरे कमलनाथ हेलिकॉप्टर से नहीं जाने दोगे तो कार से जाएंगे और कार भी नहीं आने दी तो पैदल जाएंगे, लेकिन छिंदवाड़ा तो जाएंगे”.