नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पश्चिम बंगाल में विधानसभा उपचुनाव में भी आश्चर्यजनक प्रदर्शन किया है. भाजपा ने गुरुवार को भाटपारा सीट तृणमूल कांग्रेस से छीन ली, और तीन अन्य सीटों पर अच्छी बढ़त बना ली है. तृणमूल कांग्रस ने उलुबेरिया ईस्ट और नौदा सीट बरकरार रखी और एक सीट पर बढ़त बनाए हुए है. जबकि कांग्रेस कांडी सीट पर आगे है.

भाटपारा में तृणमूल कांग्रेस के पूर्व विधायक अर्जुन सिंह के बेटे पवन कुमार सिंह ने राज्य के पूर्व मंत्री और तृणमूल उम्मीदवार मदन मित्रा को 23,000 मतों से पराजित कर दिया. अर्जुन सिंह बैरकपुर लोकसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवार के रूप में तृणमूल के दिनेश त्रिवेदी से आगे हैं.

पीएम मोदी की प्रचंड जीत पर अमेरिका ने दी बधाई, कहा- दुनिया के लिए प्रेरणा है भारत का चुनाव

कृष्णागंज सीट पर उपचुनाव की जरूरत विधायक सत्यजित बिस्वास की हत्या के कारण कराना पड़ा, जहां से भाजपा उम्मीदवार आशीष विश्वास तृणमूल कांग्रेस के प्रमथा रंजन बोस के खिलाफ 31,000 वोटों से आगे हैं. हबीबपुर में भाजपा के जोयल मुर्मु तृणमूल के अमल किसकु से 30,000 मतों से आगे हैं. भजपा ने 2016 के विधानसभा चुनाव में सिर्फ तीन सीटों पर जीत दर्ज की थी.

तृणमूल ने नौदा सीट पर जीत दर्ज की है, जहां साहिना मुमताज बेगम कांग्रेस उम्मीदवार सुनिल कुमार मंडल से लगभग 34,000 मतों से आगे हैं. तृणमूल के इदरिस अली उलुबेरिया ईस्ट सीट पर भाजपा के प्रत्यूष मंडल से 16,000 मतों से आगे हैं.

लोकसभा चुनाव 2019: राहुल को वायनाड में मिली जीत ऐतिहासिक

इस्लामपुर में तृणमूल उम्मीदवार और पूर्व मंत्री अब्दुल करीम चौधरी भाजपा के सौम्यरूप मंडल से 21,000 से अधिक मतों से आगे हैं. कांग्रेस उम्मीदवार शफीउल आलम खान कांडी में तृणमूल के गौतम रॉय से 21,000 से अधिक मतों से आगे हैं. सिर्फ कृष्णागंज को छोड़कर बाकी विधानसभा सीटों पर उपचुनाव इसलिए हुआ, क्योंकि वहां के विधायकों ने लोकसभा चुनाव लड़ने का कदम उठाया.