कोलकाता: पश्चिम बंगाल के पश्चिम मिदनापुर जिले में पूर्व आईपीएस अधिकारी और भाजपा प्रत्याशी भारती घोष की एक जनसभा के दौरान तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. पुलिस ने इस घटना की जानकारी शनिवार को दी. पुलिस के अनुसार, इसमें तृणमूल के दो कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं, लेकिन कुछ अनाधिकारिक सूत्रों ने कहा है कि इस मुठभेड़ में दोनों पक्षों के कुल 16 सदस्य घायल हो गए हैं.

पश्चिम बंगाल में दो लोकसभा सीटों के 2 मतदान केंद्रों पर फिर से होगा मतदान

घाटाल लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में भारती घोष का मुकाबला तृणमूल कांग्रेस के प्रत्याशी फिल्म स्टार सह सांसद दीपक (देव) अधिकारी से है. यहां 12 मई को मतदान होना है. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि भारती घोष के साथ भाजपा के कार्यकर्ता शुक्रवार को बैकुंठपुर के एक धार्मिक स्थल पर जमा हुए. वे लोगों के बीच साड़ी, टोपी वगैरह बांट रहे थे. जब तृणमूल के कार्यकर्ताओं ने उनका पीछा किया तब दोनों के बीच झड़प हो गई. पुलिस ने कहा कि अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ एफआरआई दर्ज कर ली गई है. साथ ही वितरित की जा रही सामग्री भी जब्त कर ली गई है.

दूसरे राज्यों में खराब प्रदर्शन के बाद वोटों के लिए बंगाल की तरफ देख रही भाजपा: ममता

पुलिस ने हमलावरों को छोड़ा
धार्मिक स्थल, स्थल निम्बार्क मठ के एक सदस्य ने कहा कि शाम के वक्त प्रार्थना के समय लोग यहां एकत्रित हुए थे, लेकिन स्थिति तब बिगड़ गई, जब सात बजकर चालीस मिनट पर भारती घोष यहां पहुंचीं. भारती ने आरोप लगाया कि जिन लोगों ने हमारे साथ दुर्व्यवहार किया है, हमारे वाहनों को नुकसान पहुंचाया है और पत्थरबाजी की है, पुलिस ने उन्हें छोड़ दिया है. जब मैंने उनसे कहा कि पत्थर फेंके जाने की वजह से मेरे सिर पर चोट आई है तो पुलिस ने मुझे सिर्फ अंदर बैठने को कहा भारती घोष ने कहा कि लोग इन सभी अन्यायों का उचित जवाब देंगे.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com