नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी अब सीएम पद पर नहीं रहना चाहती हैं. उन्होंने आज इस्तीफे की पेशकश की है. उन्होंने कहा कि वह अब सीएम नहीं रहना चाहती हैं. वह पार्टी के लिए काम करती रहेंगी. लोकसभा चुनावों में हार से निराश ममता बनर्जी की पार्टी को पश्चिम बंगाल में 22 सीटें मिली, जबकि बीजेपी ने यहां धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए 18 सीटों पर जीत हासिल की. पिछले चुनाव में बीजेपी को यहां सिर्फ 2 सीट मिली थीं. बीजेपी का यहां वोट प्रतिशत भी बढ़ा है. Also Read - 'बंगाल को गुजरात नहीं बनने देंगे', ममता बनर्जी बोलीं- जो लोग TMC छोड़ना चाहते हैं, जितना जल्दी हो सके छोड़ दें

Also Read - BJP विधायक सुरेंद्र सिंह का विवादित बयान, कहा- 'ममता बनर्जी 'राक्षसी' संस्कृति की, उनके DNA में...'

मैं अध्यक्ष नहीं रहना चाहता हूं, बिना किसी पद के पार्टी के लिए काम करता रहूंगा: राहुल गांधी Also Read - जिस सशक्त भारत की कल्पना नेताजी ने की थी आज देश उसी नक्शे कदम पर चल रहा है: पीएम मोदी

इससे चिंतित ममता बनर्जी ने आज कहा कि केंद्र सरकार ने हमारे खिलाफ काम किया. इमरजेंसी जैसी स्थिति बना दी थी. हिंदू-मुस्लिम में फूट डाली, और लोगों को बाँट दिया. चुनाव आयोग से हमने शिकायत की, लेकिन फिर भी कुछ नहीं किया गया.

बता दें कि लोकसभा चुनावों में बीजेपी से मिली बुरी तरह हार के बाद विपक्ष में हलचल मची है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी आज कांग्रेस वर्किंग कमेटी में इस्तीफा देने की पेशकश कर चुके हैं. उन्होंने कहा था कि वह अध्यक्ष पद पर नहीं रह कर काम करना चाहते हैं. लेकिन उनकी इस पेशकश को कांग्रेस द्वारा ख़ारिज कर दिया गया.