जौनपुर/आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि 23 मई को लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद सपा और बसपा कार्यकर्ताओं के बीच खून-खराबे की आशंका के मद्देनजर वह सुरक्षा सम्बन्धी एक ‘एडवाइजरी’ जारी करेंगे.

 

योगी ने जौनपुर और आजमगढ़ में आयोजित चुनावी सभाओं में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती की तरफ इशारा करते हुए कहा कि अगली 23 मई को जब परिणाम आएगा तो बुआ बोलेगी कि बबुआ तो गुंडों का सरदार है. वहीं, बबुआ बोलेगा कि बुआ तो भ्रष्टाचार की प्रतिमूर्ति है. आप देख लेना. यह तय है.’ उन्होंने कहा ‘हम भी तैयार हैं. जब इन लोगों में मारपीट होगी तो हम उत्तर प्रदेश में खून—खराबा नहीं होने देंगे. हम पहले से ही एडवाइजरी जारी करेंगे कि लूटपाट और इनकी आपसी मारकाट का शिकार प्रदेश का गरीब, किसान, दलित, महिलाएं और नौजवान समेत कोई भी नागरिक नहीं होनी चाहिये.’ योगी ने जनधन योजना की आड़ लेते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तल्ख टिप्पणी भी की.

पीएम मोदी का बड़ा हमला, कहा- कांग्रेस का मतलब ही है झूठ, प्रपंच और धोखा

अखिलेश-राहुल पर बोला हमला
उन्होंने कहा कि उन्हें जनधन खाते खोले जाने पर इसका फायदा पूछने वाले सपा अध्यक्ष पर अफसोस होता है. उनके पिता मुलायम सिंह यादव ने उन्हें विदेश पढ़ने के लिये भेजा था, मगर वह कैसे पढ़े-लिखे हैं, उनको पता ही नहीं कि आज डिजिटल पेमेंट का समय है. योगी ने यह भी कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रदेश के पिछले विधानसभा चुनाव के वक्त सपा—कांग्रेस गठबंधन के बारे में ‘दो लड़कों की जोड़ी’ की बात कही थी लेकिन उत्तर प्रदेश ने कहा था कि जोड़ी दो लड़कों की नहीं बल्कि दो बैलों की होती है. मुझे लगता है कि अब इन दोनों की पढ़ाई—लिखाई पर हर प्रदेशवासी हंसता होगा. हमें बैल बुद्धि नहीं चाहिये, विकास करने वाले लोग चाहिये.

पीएम नरेंद्र मोदी के काम से खुश हैं अधिकांश मतदाता, सर्वे रिपोर्ट का दावा

प्रियंका को बताया ‘कांग्रेस की शहजादी’
उन्होंने प्रियंका को ‘कांग्रेस की शहजादी’ बताते हुए कहा कि कहने को तो वह महिला हैं लेकिन बच्चों को गाली सिखा रही हैं. प्रियंका जी कृपया भारत के बच्चों को अच्छे संस्कार नहीं दे सकती तो कम से कम गाली तो मत सिखाओ. योगी ने कहा कि केन्द्र में कांग्रेस की पिछली सरकार के कार्यकाल में पाकिस्तान हमारे सैनिकों के सिर काटकर ले जाता था. नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जब से केन्द्र में सरकार बनी तब से हालात बिल्कुल बदल गये. आज प्रधानमंत्री मोदी कहीं भाषण दे रहे होते हैं तो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान गांधी के पसीने छूटते हैं. उन्होंने कहा कि मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनने दीजिये, देश से आतंकवाद और नक्सलवाद समाप्त हो जाएगा.

लोकसभा चुनाव से जुड़ी खबरों के लिए पढ़ते रहें India.com