फतेहपुर: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर स्थित मुस्लिम इंटर कॉलेज में स्थित मदरसे में 20 वर्षीय युवक ने संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. पुलिस के मुताबिक कासगंज जनपद के थाना सुनगढ़ी के गांव केदारपुर निवासी हरि सिंह का पुत्र प्रदीप कुमार लगभग एक दर्जन लोगों के साथ फतेहपुर जनपद के नगर पालिका परिषद द्वारा जगह-जगह कराई जा रही बोरिंग में काम करने के लिए आया था. Also Read - कोरोना में भी खुश हैं गन्ना किसान, योगी से बोले- आपने तो माफियागिरी पूरी खत्म कर दी

हालांकि बताया जा रहा है कि प्रदीप कुमार यहां सिर्फ साथ आए लोगों के लिए खाना बनाने का काम करता था. दोपहर लगभग 11.30 बजे जब लोग अपने काम में व्यस्त थे, उसी समय प्रदीप ने संदिग्ध अवस्था में कमरे के अंदर अंगोछे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. दरवाजा हालांकि बाहर से बंद था. काम करते वक्त एक मिस्त्री जब कमरे में पहुंचा तो यह दृश्य देखकर उसके होश उड़ गए. उसने अपने साथियों को घटना की जानकारी दी. Also Read - नोटों की माला, सेहरा लगा सजा दूल्‍हा, भूल गया मास्क पहनना, बारात लेकर नि‍कला तो...

मृतक के साथी रमेश ने बताया कि प्रदीप का काम सिर्फ खाना बनाने का था, जिसके लिए उसे हर महीने वेतन भी दिया जाता था. लगभग 3 माह से रहकर सभी लोग बोरिंग का कार्य कर रहे हैं. हालांकि युवक द्वारा आत्महत्या के कारण पता नहीं चल सका. सूचना पर पुलिस ने शव का अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद इस बात की पुष्टि होगी कि युवक ने आत्महत्या की है या उसकी हत्या हुई है. Also Read - मामूली घरेलू विवाद में पिता को आया इतना गुस्सा कि दोस्त के साथ तीन बेटियों को नदी के पास ले जाकर....! तलाश जारी